कोलकाता। अपने लहू से सिंचा है उन परवानों ने, यूंही नहीं ये वादियां जन्नत कहलाती हैं। आज भी खड़ी है रुह-ए-आशिक़ इन सरहदों पे, आज़माना है किसी को अपना ज़ोर तो आए। देश भक्ति के जज्बे के साथ। भारत माता की जय हो और शहीद अमर रहें के नारों से आज शाम जब महानगर कोलकाता के मौलाली से लेकर धर्मतल्ला का इलाका गूंजा तो राह चलते राहगीर भी कुछ देर के लिये थमकर राष्टवादी नौवजवानों के जज्बे को सलाम भी किया।

सैंकड़ों राष्टवादी नौवजवानों ने आज हाथों में तिरंगा लेकर व शहीदों के प्रति श्रद्धां प्रदर्शित करते हुए मौलाली से लेकर धर्मतल्ला तक एक बारिश के बीच जुलूस निकाला। इस दौरान सूरज कुमार सिंह ने मौजूद मीडिया कर्मियों के साथ बातचीत में कहा कि हमारे जो जवान शहीद हुए है हमलोगों ने उनको श्रद्धांजलि दिया है। लेकिन आज का जुलूस उन लोगों के खिलाफ भी हैं जो इस देश में रहते हैं, यहां का अन्न खाते हैं और यहां की हवा में सांस लेते हैं लेकिन भारतीय सेना की कार्रवाई पर इनका सीना फटता है।

ऐसे तथाकथित मानावाधिकार कर्मी व लोगों को शर्म आना चाहिए। ऐसे लोगों के खिलाफ देश की व्यवस्था को कार्रवाई करनी चाहिए। इस दौरान आशिष शर्मा, प्रमोद दुबे, प्रसेनजीत बिश्वास, सोमेन साहा, रनजीत बैद आदि मौजूद रहे।