सीतापुर, 1 मार्च (आरएनआई) | प्रधानमंत्री का प्रयास है कि सन् 2022 तक देश का एक भी परिवार झोपड़ी में न रहें। सभी परिवारों के पक्के आवास हों और यह मकान विद्युत एवं गैस चूल्हे से आच्छादित हों। सांसद राजेश वर्मा ने आज कलेक्ट्रेट में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लाभार्थियों को उनके आवासों की चाबी सौपनें हेतु आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये यह बात कही। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास बिजली, किचेन, बाथरूम आदि से सुसज्जित हैं। यह आवास गरीब परिवारों के सपनों के साकार होने जैसा है। उन्होंने चाबी प्राप्त करने वाले लाभार्थियों से कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री की योजना से जो लाभ मिला है उसे अन्य लोगों को भी बताएं।

जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने इस अवसर पर कहा कि इस योजना का उद्देश्य हर गरीब आवासहीन परिवार को पक्का आवास उपलब्ध कराना है। उन्होंने बताया कि जनपद सीतापुर में यह योजना प्रभावी ढंग से चलायी गयी है। देश में सर्वाधिक आवास जनपद सीतापुर में बनाए गये अभी तक कुल 78000 प्रधानमंत्री आवास बनाए जा चुके हैं। इसी प्रकार से उज्जवला योजना में भी जनपद सीतापुर देश में प्रथम स्थान पर है। जिले में गरीब परिवारों को 388000 गैस कनेक्शन दिये जा चुके हैं। जिससे गरीब परिवारों को खाना बनाते समय धुएं से निजात मिली और पर्यावरण के लिये भी लाभदायक रहा। लकड़ियों का खाना बनाने में उपयोग न होने पर पेड़ों की कटान नहीं होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि आप सभी लाभार्थी जिन्हें आवास मिला है।

अब आवास प्राप्त होने पर अपने जीवन स्तर में सुधार लाए अपने बच्चों को शिक्षित बनाएं स्कूल अवश्य भेंजे क्योंकि शिक्षित एवं स्वस्थ होकर ही कोई अपने परिवार समाज व देश का विकास में योगदान दे सकता है। उन्होंने आवासों एवं उसके आसपास स्वच्छता पर भी ध्यान देने की अपील की। बिसवां विधायक महेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सबका साथ सबका विकास का जो संकल्प व्यक्त किया था उसी के अनुरूप बिना जाति धर्म, क्षेत्र का भेदभाव किये सभी गरीबों को यह आवास दिये जा रहे हैं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी संदीप कुमार, परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण एके सिंह भी उपस्थित रहे।