आज हुई बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक ने उन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है जिसमें पीएम मोदी के ओडिशा पुरी से चुनाव लड़ने की बात थी। दिल्ली में तीन घंटे से भी ज्यादा देर तक चली संसदीय बोर्ड की बैठक में यह घोषणा की गयी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से ही चुनाव लड़ेंगे।

बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक में यह भी फैसला किया गया है कि टिकट चयन का सबसे बड़ा आधार जिताऊ उम्मीदवार होगा। साथ ही 75 साल से ज्यादा उम्र के उम्मीदवारों को जीतने की संभावना होने पर ही टिकट दिया जाएगा।

बीजेपी के जनरल सेक्रेटरी भुपेंद्र यादव ने बताया कि झारखंड में लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी और एनडीए गठबंधन में शामिल हुई। सुदेश महतो की आजसू में समझौता हुआ है। बीजेपी 13 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और 1 सीट आजसू को दी जाएगी।

ज्ञात हो कि साल 2014 को लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी गुजरात की वडोदरा सीट से भी चुनाव लड़े थे और यहां भी उन्होंने जीत दर्ज की थी. हालांकि बाद में उन्होंने ये सीट छोड़ दी थी.

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को तीन लाख 71 हजार वोटों से हराया था. पीएम मोदी को कुल पांच लाख 81 हजार वोट मिले थे. वहीं, इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार अजय राय की जमानत जब्त हो गई थी. उन्हें सिर्फ करीब 75 हजार वोट मिले थे. बता दें कि इस बार अरविंद केजरीवाल ने लोकसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है.