2,290 Views

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने निर्णयों की वजह से चर्चा में बने रहते है.अब भी उन्होंने एक ऐसा निर्णय लिया है,जिससे की सभी को हैरानी हो रही है.उन्होंने फरमान जारी करते हुए कहा है कि प्रयागराज में जनवरी से मार्च तक शादी सरकार के मुताबिक दी हुई तारीख में ही हो सकती है.इसलिए अगर शादी उत्तर प्रदेश के प्रयागराज(इलहाबाद) में करनी है तो शायद लोगों को तारीख बदलनी पड़ेगी.बता दें कि प्रदेश की योगी सरकार ने अगले साल प्रयागराज में लगने वाले कुम्भ के दौरान शादी समारोह पर प्रतिबन्ध लगाने का फैसला लिया है.सरकार के लिए हुए इस फैसले से लोग नाराज़ है.क्योंकि जिन लोगों ने गेस्ट हाउस,फंक्शन लॉन और कैटरर्स का पहले भुगतान किया था अब उनको सरकार के इस फैसले से परेशानी हो रही है.

इस फरमान के बाद सैकड़ों शादियों की तारीख बदलनी पद रही है.क्योंकि तारीख पहले तय की जाती है.इसलिए लोग अब आस-पास के ज़िलों में शादी के स्थान की तलाश कर रहे है.इसके साथ-साथ शादियों के बिजनेस में होने वाले लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.बहुत से लोग अपनी आमदनी के लिए शादियों के सीजन पर ही निर्भर रहते है.

इस फरमान के बारे में बता दें कि सरकार के जारी फरमान में कहा गया है कि कुंभ स्नान के एक दिन पहले से लेकर एक दिन बाद तक शादी की अनुमति नहीं दी जाएगी.जिला प्रशासन द्वारा इस आदेश की कॉपी शादी हाल के मालिकों, लॉन मालिकों को भेजी गयी है.इसमें कहा गया है कि इन दिनों की सभी बुकिंग रद्द कर दें.और व्यवस्था बनाये रखने में सरकार का सहयोग करें. बता दें कि इस तीर्थ यात्रा के दौरान 5 मुख्य पवित्र स्नान होंगे.इनमे से दो जनवरी में होंगे.जबकि पहला स्नान मकर सक्रांति,दूसरा पौष पूर्णिमा.इसके बाद फरवरी में मौनी अमावस्या,बसंत पंचमी और माघी पूर्णिमा होंगे.जबकि मार्च माह में महाशिवरात्रि का स्नान होगा.इस वार्षिक अनुष्ठान में बड़ी संख्या में भक्तों के आने की उम्मीद की वजह से शादी आयोजनों पर रोक लगायी गयी है.

हसन हैदर