कोलकाता।मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज नवान्न में कोरोना को लेकर एक आपात बैठक के दौरान साफ कहा कि इस राज्य में करोरोना से कोई पीड़ित नही है। बताया जा रहा है कि चीन से होते हुए 87 देशों तक फैले कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकार भी सतर्क हो गई है। इस कड़ी में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए स्वास्थ्य निदेशक, जिला अधिकारी, जिले के स्वास्थ्य अधिकारी समेत स्वास्थ्य व प्रशासनिक हलकों के तमाम वरिष्ठ अफसरों के साथ उच्च स्तरीय आपात बैठक की।

बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य में जानलेवा वायरस कोरोना को लेकर सभी जिलों में सतर्कता जारी की गई है। इसके साथ सभी अस्पतालों में क्विक रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। इसके अलावा 24 घंटे का दो हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना को लेकर राज्यवासियों को ज्यादा चिंतित होने की जरूरत नहीं। राज्य में कोरोना के एक भी मामले नहीं पाए गए हैं।

इसके बावजूद उन्होंने इसे लेकर लोगों को जागरूक रहने की सलाह दी। ममता ने कहा कि सभी सभी जिलों में सतर्कता जारी की गई है। कोरोना वायरस की जांच के लिए सभी अस्पतालों में क्विक रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। इसके अलावा 24 घंटे का दो हेल्पलाइन नंबर 1800-313-444222 तथा 033-23412600 जारी किया गया हैं। गया है।

पुलिस-प्रशासन को भी सतर्क रहने को कहा गया है।सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में जांच की व्यवस्था होनी चाहिए। इसके साथ उन्होंने इस बीमारी के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली मंहगी दवाओं की कीमत तथा बचाव के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले मास्क का दाम कम करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा है।

कोरोना के संदेह है कि कोलकाता स्थित बेलेघाटा आइडी अस्पताल में तीन लोगों को भर्ती कराया गया है। इनमें एक महिला व दो पुरुष शामिल हैं। महिला महानगर के कसबा की निवासी है। वह हाल में सिंगापुर से लौटकर आयी है। दूसरी ओर, दो युवकों में से एक बेलेघाटा का रहने वाला है। वह थाईलैंड से लौटकर आया है। दूसरा टालीगंज का रहने वाला है। वह कुवैत से लौटकर आया है। फिलहाल, अस्पताल में आठ लोग चिकित्साधीन हैं।