रिपोर्ट- रागिब राही

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया है. इसके बाद बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपने इस्तीफे की पेशकश की है. हालांकि, आरजेडी विधायक भाई वीरेन्द्र ने कहा है कि, उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया जाएगा.

भाई वीरेन्द्र ने कहा कि, चुनाव के बाद भी विधायक दल की बैठक में ही हम लोगों ने कह दिया था कि तेजस्वी यादव को इस्तीफा नहीं देना है. उन्होंने आगे कहा कि हम लोग जान रहे थे कि ऐसा सवाल हमारे दल में भी उठ सकता है. इसलिए हम लोगों ने प्रस्ताव रखा कि यदि वह इस्तीफा देंगे तो सभी 80 विधायक सामूहिक रूप से इस्तीफा दे देंगे.

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद से ही तेजस्वी यादव गायब थे, किसी भी कार्यक्रम में वो दिखाई नहीं दे रहे थे. पिछले दिनों उन्होंने ट्वीट करके ये जानकारी दी थी, कि वह ईलाज के लिए बिहार से बाहर गए हुए थे. चमकी बुखार के कारण बिहार में सैकड़ो बच्चे की मौत हो गई थी उसमें भी वह कहीं दिखाई नहीं दिए थे. जिसकी वजह से उनका मीडिया में काफी किरकिरी हुई थी और साथ में सत्तापक्ष के लोगों ने उनकी काफी आलोचना कि थी. मॉनसून सत्र के दौरान भी वो विधानसभा में मौजूद नहीं थे. पिछले चार दिनों से सत्र चल रहा है, लेकिन वह पांचवे दिन विधानसभा पहुंचे हैं. तेजस्वी की गैर मौजूदगी को लेकर सत्तापक्ष की ओर से लगातार सवाल उठाये जा रहे थे.