कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी में कुछ लोग दलितों को ऊपर उठने से रोक रहे हैं. उन्होंने रविवार को कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री का पद देने से तीन बार मना किया गया क्योंकि वह दलित समुदाय से थे।

वहीं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने यह कहते हुए पल्ला झाड़ने की कोशिश कि उन्हें इस बयान का संदर्भ नहीं पता।

दावणगेरे में एक कार्यक्रम में बोलते हुए दलित नेता और उपमुख्यमंत्री परमेश्वर ने कहा, ‘बसवलिंगप्पा मुख्यमंत्री नहीं बन पाए और केएच रंगनाथ के साथ भी ऐसा ही हुआ।

आगे उन्होंने कहा कि ‘हमारे बड़े भाई मल्लिकार्जुन खड़गे भी मुख्यमंत्री नहीं बन सके. मैं खुद इससे तीन बार वंचित रह गया. कुछ मुश्किलों के बाद उन्होंने मुझे उप मुख्यमंत्री बनाया.’ परमेश्वर ने आरोप लगाया कि कुछ लोग उन्हें राजनीतिक रूप से दबाना चाहते हैं।