पटना, 18 अप्रैल | बिहार में राजनीति जितनी दिलचस्प होती जा रही है उतने ही बगियो की संख्या बढ़ती जा रही है. आए दिन कोई न कोई अपनी ही पार्टी से बगावत कर बागी हो रहा है. इस लिस्ट में अब पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डॉ. शकील अहमद का भी नाम जुड़ गया है . उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के पद से इस्तीफा दे दिया है और मधुबनी लोकसभा क्षेत्र से नामांकन की घोषणा की है. कांग्रेस से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए पार्टी के नेता शकील अहमद पर कांग्रेस बड़ी कार्रवाई कर सकती है। शकील अहमद के इस कदम से कांग्रेस उनसे नाराज है और खबरों के मुताबिक शकील अहमद पर बड़ी कार्रवाई की जा सकती है. इसके साथ ही उन्हें पार्टी से भी निष्काषित किया जा सकता है. मालूम हो कि बिहार के मधुबनी लोकसभा सीट मुकेश सहनी की पार्टी वीआइपी के खाते में गई है। आपको बता दें कि कांग्रेस आलाकमान ने डॉक्टर शकील अहमद से कहा है कि वो अपना नामांकन वापस ले लें और अगर वो अपना नामांकन वापस नहीं लेते है तो उन्हें पार्टी से निकाला जा सकता है. लेकिन, डॉक्टर शकील अहमद अपने जिद पे अरे है और नामांकन वापस लेने को तैयार नहीं हैं.  इस सीट से राजद के बागी अली अशरफ फातमी ने भी चुनाव लड़ने की बात कही है।