81 Views

कैंसर के बारे में बताने की वजह से हमारे फाउंडर सी.ऐ. अरुण गुप्ता को उनकी कंपनी से निकाल दिया गया I इस कारण वे अच्छी तरह जानते थे की इस रोग की सामाजिक अवं आर्थिक समस्याएं क्या है I कैंसर केवल पेशेंट को ही नहीं, बल्कि उसके पूरे परिवार को प्रभावित करता है I रिसर्च द्वारा ये पता चला है की लगभग  90% पेशेंट्स अपनी आमदनी का ज़रिया खो देते हैं और इलाज ख़तम होने के बावजूद उन्हें कोई नौकरी नही देता I ये समस्या और अधिक बढ़ जाती है अगर घर के कमाने वाले सदस्य को ये बीमारी हो जाये I

इन्ही सब समस्याओं को ध्यान में रखते हुए अरुण और उनकी टीम ने एक ऐसा प्रोग्राम बनाया जो कैंसर पेशेंट्स और उनके परिवार की आर्थिक रूप से सहायता करे और उनके जीवन में आर्थिक स्थिरता लाये I इस प्रोग्राम के अनुसार हम कैंसर पेशेंट या उनके किसी परिवार के सदस्य को मुफ्त में स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग दिलवाते है I ये ट्रेनिंग हमारे भागीदारी न.स.डी.सी, टैली एवं टेक महिंद्रा देते हैं I ट्रेनिंग के ख़तम हो जाने के बाद, हम उनको रोजगार दिलवाने में सहायता करते हैं ताकि वे आर्थिक रूप से स्वतंत्र हो जाएं I इस ट्रेनिंग की पूरी फीस विन ओवर कैंसर द्वारा स्पांसर की जाती है I इस प्रोजेक्ट ने कहीं ज़िन्दगियों का भला करा है,जिनमे से एक है काजल और प्रीति का घर I

काजल 22 वर्ष की थी जब उनके पिता को कैंसर हुआ I उस दौरान वे एक स्कूल में पढ़ाती थी I उनकी छोटी बेहेन प्रीति को इस वजह से पढाई छोड़कर अपनी बेहेन का,घर की आर्थिक समस्याओं को सुलझाने में साथ देना पढ़ा I दोनो बहने जितना कमाती थी, अपने पिता के इलाज में लगा देती थी I कुछ समय बाद उन दोनो को नौकरी छोड़नी पढ़ी क्यूंकि वे अपने पिता की सहायता के लिए अधिक छुट्टियाँ ले रही थी  I इसके रहते, घर में कोई कमाने वाला नहीं था और इलाज का खर्चा बढ़ता ही जा रहा था I इसी दौरान उन दोनो बहनों को हमारे प्रोजेक्टस र्वाइव के बारे में पता चला I कुछ ही दिनो में उनकी जी.डी.स – नर्सिंग की ट्रेनिंग शुरू हो गयी जिसका पूरा खर्चा विन ओवर कैंसर ने उठाया I काजल अवं प्रीति की ट्रेनिंग लगभग 2 महीनो में पूरी हो जाएगी और वे निश्चिन्त हैं की वे दोबारा से अपने परिवार का खर्चा उठा पाएंगी I

इस प्रोजेक्ट को सही ढंग से बढ़ाने के लिए हमने एक एप्लीकेशन बनवाई है जो इस लिंक पर डाउनलोड की जा सकती है https://play.google.com/store/apps/details?id=woc.ngoI ये एप्लीकेशन कुल मिलाकर 6 भाषाओँ में उपलब्ध है I

1 साल के छोटे समे में ही हुमारे प्रोजेक्ट ने 45 कैंसर पेशेंट्स और उनके परिवारों का भला करा है I   

काजल और प्रीति जैसे और लोगों की सहायता करने के लिए हमे आपकी सहायता की ज़रुरत है I

हमारे प्रोग्राम में आज ही डोनेट करें – https://www.winovercancer.net/contribute/

हमारे प्रोजेक्ट के बारे में अधिकतर जानने के लिए – https://www.winovercancer.net/program/survive/

हमारे बारे में अधिकतर जानने के लिए – https://www.winovercancer.net/