कोलकाता। दुनियाभर में महिलाओं के प्रति हिंसा, शोषण एवं उत्पीड़न की बढ़ती घटनाएं संयुक्त राष्ट्र संघ के लिए गंभीर चिन्ता का विषय बना है।अगर बात इस देश की करे तो 2018 भारत में महिलाओं के ख़िलाफ़ जारी हिंसा की सैकड़ों वीभत्स घटनाओं से भरा रहा। आज प्रोटेक्शन फार डेमेक्रेटिक ह्युमन राइटस ऑफ इंडिया के सहयोग से जोड़ासांको निवासी एक पीड़ित महिला नूरे तरफा रहमान ने राज्य महिला आयोग से फरियाद कर न्याय की गुहार लगाई। पीड़ित महिला तरफा रहमान ने बताया कि आज महिला आयोग को लिखित शिकायत की गई है।

पीड़ित महिला तरफा रहमान ने आरोप लगाते हुए कहा कि बेलघरिया निवासी उसका पति साहीद हुसैन शादी के बाद से लगातार उसका शारिरिक व मानसिक उत्पीड़न करता रहा है। स्थानीय थाने में शिकायत के बाद भी पुलिस ने किसी तरह की कार्रवाई को अंजाम नही दिया तो हमे प्रोटेक्शन फार डेमेक्रेटिक ह्युमन राइटस ऑफ इंडिया को पहले लिखित तौर पर शिकायत करना पड़ा व फिर पीडीएचआरआई के सहयोग से हमने महिला आयोग व डीसी (सेंट्रल) को लिखित शिकायत दी।

मामले पर पीडीएचआरआई के अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार दुबे ने आज बताया कि मो. वकील, मो. कमरुद्दीन मों. जकी सहित कुल पांच सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल की टीम महिला आयोग कार्यालय पीडि़ता को लेकर गई थी और जरुरी कार्रवाई को अंजाम दिया है ताकि पीड़िता को न्याय मिल सके। डॉ. प्रदीप कुमार दुबे ने कहा कि हमे आशा है कि महिला आयोग इस दिशा में सकरात्मक कदम उठाएगी।