646 Views

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की रेज़िडेन्शल कोचिंग एकेडमी (आरसीए) से कोचिंग और ट्रेनिंग पाने वाले 50 छात्रों ने सिविल सर्विसेज़ मेन परीक्षा 2019 में कामयाबी हासिल की है। ये उम्मीदवार अब इन्टव्र्यू के लिए पेश होंगे।

राष्ट्र निर्माण के लिए विश्वविद्यालय की प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में, आरसीए में छात्रों को मुफ्त आवास, पुस्तकालय सुविधा, कक्षा शिक्षण, अभ्यास परीक्षण आदि मुहैया कराए जाते हैं। सीटों की उपलब्धता के आधार पर जामिया ऐसे कुछ अन्य योग्य उम्मीदवारों को दाखिला देगा जो इन्टव्र्यूू के लिए क्वालिफाई हो गए हैं। इस बारे में विवरण www.jmi.ac.in पर उपलब्ध है)।

2010 में अपनी स्थापना के बाद से, जामिया की आरसीए ने यूपीएससी की परीक्षाओं के ज़रिए से 190 सिविल सेवक बनाने में योगदान किया है। इनमें आईएएस, आईएफएस, आईपीएस,

आई.एफ.एस., आईआरएस, आईआरटीएस आदि शामिल हैं। इसके अलावा, (एसडीएम और डीएसपी के रूप में), आरबीआई (ग्रेड- बी), सहायक कमांडेंट (सीएपीएफ), आईबी, सहायक आयुक्त (भविष्य निधि) और बैंक पी.ओ. वगैरह के लिए आरसीए के 245 छात्रों ने प्रांतीय सिविल सेवाओं में कामयाबी पाई है।

पिछले साल आरसीए के 44 उम्मीदवारों ने यूपीएससी परीक्षा पास की थी जिसमें थर्ड टाॅपर जुनैद अहमद शामिल हैं।