221 Views

 

कोरोना वायरस के ख़तरे को भांपते हुये कई जगह लॉकडाउन किया गया, भारत में भी लगभग 80 ज़िलों में लॉकडाउन कर दिया गया है। जिस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के आपातकाल विशेषज्ञ माइक रायन का मानना है कि सिर्फ लॉकडाउन से बात नहीं बनेगी, क्योंकि अगर हम सख्त तौर पर सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को नहीं अपनाते हैं, तो लॉकडाउन के साथ भी खतरा बरकरार रहेगा।

आगे उन्होंने कहा- ‘हमें अभी इस बात पर फोकस करने की जरूरत है कि जो बीमार हैं, जो इस वायरस से ग्रसित हैं, उन्हें आइसोलेट किया जाना चाहिए। वो लोग किनके संपर्क में आए थे, उनका पता लगाना चाहिए और उन्हें भी आइसोलेट करना चाहिए।

उनका मानना है कि जब लॉकडाउन या अन्य पाबंदियां हटेंगी तो यह बीमारी फिर से लोगों को अपना शिकार बनाएगी।

माइक रायन ने इसके लिए चीन, सिंगापुर और साउथ कोरिया का उदाहरण देते हुये कहा- इन देशों ने सख्ती के साथ बचाव उपाय किए और हर संदिग्ध की जांच की।