पतंजलि भारतीय बाजार में अपने पांव जमा चुका है और मार्केट में उसकी प्रतिद्वंद्वी हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी के सोशल मीडिया पर ‘सर्फ़ एक्सेल’ के एक ऐड को लेकर बवाल मचा हुआ है. दरअसल सर्फ एक्सल ने ‘रंग लाए संग’ कैंपेन के जरिए होली पर हिंदू-मुस्लिम सद्भाव का संदेश देने का प्रयास किया था.लगभग एक मिनट के इस ऐड में दिखाया गया है कि सफेद टी-शर्ट पहने हिंदू लड़की पूरी गली में साइकल लेकर घूमती है और सभी बच्चों के रंग अपने ऊपर डलवाकर खत्म करवा देती है फिर वो अपने मुस्लिम दोस्त के घर के बाहर जाकर कहती है कि रंग खत्म हो गए बाहर आ जाओ.

लड़की अपने दोस्त को साइकल पर बैठा कर मस्जिद के दरवाजे पर छोड़ती है.आखिरी में उसके सीढ़ी चढ़ते वक्त वह कहती है, बाद में रंग पड़ेगा.इस पर उसका मुस्लिम दोस्त मुस्करा देता है.हिंदुस्तान लीवर के मालिकाना हक वाले सर्फ एक्सल ने इसके जरिए यह संदेश देने का प्रयास किया कि रंगों के जरिए समाज संग आ सकता है.इस विज्ञापन का अंत सर्फ एक्सल की परंपरागत टैगलाइन ‘दाग अच्छे हैं’ के साथ होता है.

इस विज्ञापन को देखकर पतंजलि आयुर्वेद के प्रमुख और योग गुरु बाबा रामदेव ने भी सर्फ एक्सल की धुलाई करने की बात कही है.उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि, “हम किसी भी मजहब के विरोध में नहीं हैं लेकिन जो चल रहा है उस पर गंभीरता से सोचने की जरूरत है. लगता है जिस विदेशी सर्फ से हम कपड़ों की धुलाई करते हैं अब उसकी धुलाई के दिन आ गए हैं”.

इस ऐड को यूट्यूब पर अब तक 77,37,800 व्यूज मिल चुके है.हालांकि ट्विटर पर कुछ लोग इसे हिंदू फोबिक और विवादित करार दे रहे हैं.इस विज्ञापन में हिंदू बच्ची और मुस्लिम बच्चे को दिखाया जाने का सोशल मीडिया पर एक तबका विरोध कर रहा है.

(हसन हैदर)