उत्तर प्रदेश में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण अर्थात यमुना एक्सप्रेस वे क्षेत्र में हुए 126 करोड़ रुपये के जमीन खरीद घोटाले की जांच के लिए पहुंचे ग्रेटर नोएडा के सुनपुरा गांव में केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) अधिकारियों को ग्रामीणों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है. पूरा मामला थाना इकोटेक तीन क्षेत्र के अंतर्गत सुनपुरा गांव का है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक 126 करोड़ रुपये के जमीन खरीद घोटाले की जांच की कड़ी में सीबीआइ अधिकारी शनिवार को ग्रेटर नोएडा के सुनपुरा गांव पहुुंचे थे.सीबीआइ अधिकारियों की टीम एक आरोपित सीबीआइ दरोगा को पकड़ने आई थी. इसकी भनक ग्रामीणों को लगी तो उन्होंने सीबीआइ टीम को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा.ग्रामीणों का गुस्सा देखकर सीबीआइ अधिकारियों को भागना पड़ा.

बताया जा रहा है कि यमुना प्राधिकरण के 126 करोड़ के जमीन खरीद-फ़रोख़्त घोटाले की जांच में सीबीआई अपने ही विभाग के दरोगा के घर पर पहुंचे थे.

उल्लेखनीय है कि यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में हुए 126 करोड़ के जमीन घोटाले मामले में प्राधिकरण की तरफ से बीते साल तीन जून 2018 को कासना कोतवाली में सेवानिवृत्त आइएएस व प्राधिकरण के पूर्व सीईओ पीसी गुप्ता समेत 21 आरोपितों पर रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. पीसी गुप्ता को 22 जून को मध्यप्रदेश के दतिया से गिरफ्तार कर दस दिन की रिमांड पर लेने के बाद मेरठ की भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट में पेश कर जेल भेजा था.पीसी गुप्ता वर्तमान में भी मेरठ जेल में बंद है. उसकी जमानत कोर्ट से खारिज हो चुकी है.

बता दें कि CBI के बुरे दिन चल रहे है इससे पहले बंगाल के पुलिस आयुक्त को गिरफ्तार करने पहुची CBI टीम को ही गिरफ्तार कर लिया गया जिससे कि पूरे देश में राजनीति माहौल गर्म हो गया.

(हसन हैदर)