56 Views

नई द‍िल्‍ली, 27 जनवरी 2020, (आरएनआई )। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा कि भारतीय रेलवे को 2024 तक पूरी तरह से विद्युतीकरण करने की उम्मीद है, इसके लिए पहले से ही डीजल इंजनों को धीरे-धीरे सेवा से बाहर किया जा रहा है। रेल मंत्री ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि 2024 तक पूरे भारतीय रेलवे को सौ प्रतिशत बिजली पर चलाया जाएगा। यह पूरी तरह से बिजली से चलने वाला दुनिया का पहला रेलवे नेटवर्क होगा। हम पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी के प्रति बहुत सचेत हैं।

गोयल ने भारत-ब्राजील बिजनेस फोरम में कहा कि हमारे रेल नेटवर्क के तेजी से विद्युतीकरण की शुरुआत हो रही है। मंच का आयोजन 26 से 27 जनवरी तक ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो की आधिकारिक भारत यात्रा के दौरान किया गया था। इस समारोह में भारतीय और ब्राजील के उद्योगपतियों को बोल्सोनारो और अन्य मंत्रियों ने संबोधित किया।

पीयूष गोयल ने आगे कहा कि हम दुनिया के पहले रेल नेटवर्क होंगे, जो 2030 तक कार्बन उत्सर्जन से मुक्त होगा और स्वच्छ ऊर्जा से संचालित होगा। भारत 2030 तक पूरे रेलवे नेटवर्क को पूरी तरह से शून्य उत्सर्जन नेटवर्क बनाने की योजना बना रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत ब्राजील के साथ साझेदारी करना पसंद करेगा। उन्होंने कहा कि भारत बुनियादी ढांचे के विकास पर ब्राजील के साथ मिलकर काम करना पसंद करेगा।

गोयल ने बीते साल नवंबर में भी दावा किया था कि एक बेहतर, प्रदूषण रहित भविष्य के लिए रेलवे विद्युतीकरण को लगातार बढ़ा रहा है। उन्होंने कहा था कि अगले 3-4 साल में पूरे रेलवे के विद्युतीकरण करने का लक्ष्य रखा गया है, जिससे यह दुनिया की पहली कार्बन उत्सर्जन मुक्त रेलवे बनेगी। रेलवे अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए सौर ऊर्जा का उत्पादन भी कर रहा है। उन्होंने बताया था कि सरकार पुराने कोयला संयंत्र को खत्म करने का काम कर रही है। इससे प्रदूषण को खत्म करने में मदद मिलेगी।