हैदराबाद: सड़क चौड़ीकरण के नाम पर ग्रेटर हैदराबाद में अक मस्जिद गिराने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन और हैदराबाद ट्रैफिक पुलिस द्वारा हैदराबाद की एक पुरानी मस्जिद को तहस नहस कर दिया। जिसके बाद कहा जाता है कि टीआरएस का मुस्लिम विरोधी रुख सामने आया।

स्थानीय लोगों का आरोप है कि जीएचएमसी और हैदराबाद ट्रैफिक पुलिस ने रात के अंधेरे में विध्वंस का काम किया और 400 साल पुराने ईक खाना मस्जिद और आशूरखाना को तहस-नहस कर दिया।

सरकार के खिलाफ स्थानीय लोगों में गुस्सा है और तेलंगाना राज्य वक्फ बोर्ड की चुप्पी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। एमबीटी और अन्य मुस्लिम संगठनों ने इस कदम का विरोध किया।

एमबीटी के पूर्व नगरसेवक अमजदुल्ला खान ने GHMC को धोखा देकर 6 करोड़ एकत्र करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। उन्होंने मामले की जांच और मस्जिद के निर्माण की भी मांग की।