कोलकाता। राज्य के सरकारी अस्पतालों में हड़ताल पर बैटे डॉक्टरों की बात छोड़ दे तो राज्य के शहरी विकास मंत्री और कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम की बेटी व पेशे से डॉक्टर सबा हाकीम ने डॉक्टरों पर हमले की निंदा की और इसे बेहद गलत करार दिया। अपने फेसबुक पोस्ट में सबा ने लिखा है कि “मैं एक तृणमूल समर्थक के रूप में हमारे नेता की निष्क्रियता और चुप्पी से बहुत शर्मिंदा हूं।” सबा के सोशल मीडिया में इस पोस्ट को लेकर जैसे हड़कंप मच गया हो। वैसे मीडिया कर्मियों के सात बात के लिये भले ही सबा तैयार नही रही “लेकिन हमारे नेता की निष्क्रियता और चुप्पी से बहुत शर्मिंदा हूं।

जैसे पोस्ट को लेकर राज्य की राजनीति में चर्चा का दौर गरम है कि सभा ने किस नेता पर निष्क्रियता और चुप्पी का आरोप लगाया है। वैसे राज्य के एक अस्पताल में डाक्टर के तौर पर कार्यरत सबा के बयान बारे में राज्य के शहरी विकास मंत्री और कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम ने चुप्पी साध रखा है। जबकि तृणमूल के खेमे में इस बयान को लेकर कई नेताओं का पारा तो चढ़ा है लेकिन वह लोग राज्य के शहरी विकास मंत्री और कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम की बेटी के खिलाफ कुछ करने व कहने से बच रहे है लेकिन उनका गुस्सा उबाल रहा है।

इधर तृणमूल सांसद व चिकित्सक शांतनु सेन की पत्नी काकली सेन ने भी अपने फेसबुक पोस्ट में हड़ताल पर बैटे डॉक्टरों के साथ देने की बात की है। उन्होंने डॉक्टरों पर हमला करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात भी की है। इधर बता दे कि बुधवार रात 11:28 बजे फेसबुक पर सबा हकीम ने उक्त पोस्ट किया। सबसे पहले उन्होंने लिखा है कि, यह पोस्ट उन लोगों के लिए है जो यह नहीं जानते हैं कि सरकारी अस्पतालों और अधिकांश निजी अस्पतालों में डॉक्टरों ने भले ही आउटडोर में काम नही किया लेकिन इण्डोर में काम हुआ है।

आगे सबा लिखती हैं, “हमें अन्य पेशेवरों के साथ नहीं एक किया जा सकता क्योंकि मानवता पर परोसा करते है और हम अपने दायित्व से मुंह नहीं मोड़ते है। यदि कोई बस या टैक्सी हड़ताल किया जाता तो परिणाम स्वरूप स्थिति जितना भी बदत्तर हो जाए एक टैक्सी चालक या बस चालक अपनी सेवा नहीं नही प्रदान करते हैं । “