कोलकाता। महानगर में अगलगी जारी है इसी क्रम में आज महानगर कोलकाता के नामचीव व सदियाें पुराना वारी एथलेटिक क्लब जलकर खाक हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही आग बुझाने के लिए चार दमकल वाहन रवाना हुये थे लेकिन उनके मौके पर पहुंचने से पहले ही क्लब पूरी तरह जल चुका था। इस दौरान क्लब का रख-रखाव करने वाला एक कर्मचारी रवींद बार (‍52) भी झुलस गया है। रवींद मूल रूप से उड़ीसा के जजपुर के रहने वाले रवींद्र क्लब में माली का काम करते हैं। मौके पर पहुंचे दमकल और कोलकाता पुलिस की आपदा प्रबंधन टीम ने उन्हें तुरंत एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया जहां प्राथमिक चिकित्सा के बाद छोड़ दिया गया है। दमकल विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सुबह 5:40 बजे के करीब अचानक क्लब से धुआं और बाद में आग की लपटें निकलने लगीं। उस समय क्लब के अंदर चार लोग सो रहे थे। उसमें से तीन लोग तो दौड़कर बाहर निकल गए जबकि रवींद आग की चपेट में आ गए थे। लेकिन वह बहुत अधिक झुलसे नहीं, उनकी हालत ठीक है।जो लोग आग लगने के समय क्लब के अंदर सो रहे थे उन्होंने बताया है कि आग सबसे पहले क्लब में रखी फ्रिज में लगी थी जो धीरे-धीरे पूरे क्लब में फैल गई थी। यह पूरा क्लब टीन की शेड और टीन की दीवार से ही बना है। इसके अंदर बिस्तर, क्रिकेट खेलने के सामान, प्लास्टिक और कपड़े की अन्य चीजें मौजूद थीं इसलिए आग काफी तेजी से फैली है। हालांकि अब आग पर काबू पाया।121 वर्ष पुराने वारी एथलेटिक क्लब का भारतीय फुटबॉल के इतिहास में बड़ा योगदान है। क्लब ने कई फुटबॉल खिलाड़ियों को निखारा था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि गुरुनानक सैरानी में स्थित क्लब को आग की लपटों में सबसे पहले सुबह पांच बजे टहल रहे लोगों ने देखा और दमकल वाहनों के पहुंचने से पहले वह पूरी तरह से जल गया था। क्लब के रखरखाव के लिए दो कर्मचारी रात में रूकते थे। उन्होंने बताया कि आग में कई ट्राफियां और दस्तावेज जलकर खाक हो गये हैं। क्लब के सचिव इंद्रनाथ पाल ने बताया कि उनका क्लब सबसे पुरानी संस्थानों में से एक था।