रिपोट- फैजान शेख
सुशासन बाबू के बिहार में सीतामढ़ी से पुलिस का एक बार फिर बेरहम चेहरा सामने आया है. यहां दो अपराधियों को बिहार पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद जमकर पिटाई की, जिससे उनकी मौत हो गई. बताया जाता है कि सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर मे दर्ज 68 /2019 मामले में पुलिस ने देर रात पूर्वी चंपारण के चकिया के रामाडीह गांव से गुफरान और तस्लीम नाम के दो अपराधियों को गिरफ्तार किया था.
अपराध कबूल करवाने के लिये पुलिस ने दोनों की बेरहमी से पिटाई की गई, जिससे उनकी हालत बेहद गंभीर हो गई. हालत नाजुक होने पर इलाज के लिए सीतामढ़ी के सदर अस्पताल मे भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान दोनों ने दम तोड़ दिया. मामले की जानकारी सीतामढ़ी पुलिस को मिली तो अधिकारियों के पसीने छुट गए.
सीतामढ़ी के सदर डीएसपी कुमार वीर धीरेन्द्र ने कहा कि दोनों की मौत की जांच कराई जाएगी, क्योंकि जब उनकी गिरफ्तारी हुई थी तो उस दौरान वे पूरी तरीके से स्वस्थ्य थे. पुलिस ने इसके साथ ये भी आशंका जताई है कि दोनों के खाने में कुछ जहरीला पदार्थ देने से भी उनकी मौत हो सकती है. इस मामले में सीतामढ़ी डीएम रणजीत कुमार सिंह ने जांच के आदेश दे दिये हैं. डीएम ने सदर एसडीओ के नेतृत्व मे मामले की जांच कराये जाने की बात कही है.
डीएम रणजीत ने कहा कि सदर एसडीओ के अंदर में चिकित्सकों की एक टीम के द्वारा मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जायेगा और पूरी प्रकिया की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी. डीएम ने आगे कहा है कि खाना खाने के बाद दोनों की तबियत अचानक खराब हो गई थी, जिसके बाद दोनों को इलाज के लिये सीतामढ़ी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था.इससे एक बात साफ हो जाती है की नितीश कुमार की सुशासन की दावेदारी पुरी तरह खोखलें है।