39 Views

महोली/सीतापुर, (आरएनआई) | जुलाई माह में पड़ रही भीषण गर्मी से जहां आमजन मानस बेहाल है। वहीं बिजली की अघोषित कटौती कोढ़ में खाज का काम कर रही है।

आदर्श नगर पंचायत, विधानसभा तथा तहसील होने के बावजूद नगर व ग्रामीण इलाकों में जमकर विद्युत कटौती की जा रही है। इसके कारण लोग गर्मी से तो बेहाल हैं ही साथ में बिजली से संबंधित कामकाज भी ठप पडे हैं। बरसात न होने व बिजली कटौती की वजह से किसानों को सिंचाई हेतु पानी नहीं मिल पा रहा है। रोस्टर के अनुसार सप्लाई न मिलने से नगर के कई मोहल्लों में पानी की किल्लत हो जाती है। लोग गर्मी के कारण रतजगा कर रहे हैं। बच्चों की पढाई पर भी बिजली कटौती का बुरा असर पड़ रहा है। पिछली सपा सरकार में बिजली की समस्या से निजात दिलाने के लिए महोली मे विद्युत सब स्टेशन का निर्माण कराया गया था। जर्जर तार और ख्म्भे आदि बदलवा गए थे। लेकिन फिर भी नगर की विद्युत व्यवस्था बद से बदतर होती जा रही है। शीतल पेय व्यवसायी श्यामू शुक्ला कहते हैं कि बिजली कम मिलने के कारण फ्रीजर नहीं चल पाता है। जिससे कोल्ड ड्रिंक ठंडी नहीं होती इसका दुकानदारी पर बुरा असर पड़ रहा है। गुड़ आढ़ती अजय गुप्ता, पिंटू मिश्रा के अनुसार पर्याप्त बिजली न मिलने से काफी दिक्कत होती है। प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को बिजली व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए आवश्यक कदम उठाने चाहिए। विभाग के जिम्मेदार लोगों से कटौती के बारे में पूछने पर अपना रटा रटाया जवाब मेन नहीं आ रही देकर पल्ला झाड़ लेते हैं।