कोलकाता। जीटीए चीफ विनय तमांग ने आज कहा कि राज्य सचिवालय नवान्न में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ उनकी सार्थक बातचीत हुई है। इस बैठक में शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम के अलावा जीटीए चीफ विनय तमांग और अनित थापा के साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बातचीत की। बैठक में राज्य के मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय भी उपस्थित थे। सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने विनय तमांग से पहाड़ में शांति बनाए रखने को कहा है।विनय तमांग ने कहा, बिमल गुरूंग तो पहाड़ का कोई नहीं है।
बिमल गुरूंग को लेकर मुख्यमंत्री के साथ किसी तरह की कोई बात ही नहीं हुई है। हां, मुख्यमंत्री ने पहाड़ में शांति बनाए रखने को लेकर बातचीत किया है कि कैसे पहाड़ पर शांति रहे। इधर जहां एक ओर विनय तमांग पहाड़ के मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री के साथ बैठक कर रहें थें। वहीं, आज दार्जिलिंग में विनयपंथी गोर्खा जनमुक्ति मोर्चा के नेता-कार्यकर्ताओं ने बिमल गुरूंग के खिलाफ महारैली निकाली। एक अलग गोर्खालैंड राज्य के लिए लड़ने वाले गोर्खा नेता बिमल गुरुंग 3 साल बाद पूजा से पहले कोलकाता में दिखाई दिए थे।
इसके बाद से बिमल गुरुंग के खिलाफ विनयपंथी गोर्खा जनमुक्ति मोर्चा के नेता-कार्यकर्ताओं ने पहाड़ के कई जगहों पर रैली निकाली हैं। सोमवार को कोलकाता रवाना होने से पहले विनय तामांग ने पत्रकार सम्मेलन में विनय तामांग ने कहा था कि उन लोगों के लिए बिमल गुरुंग न कोई सब्जेक्ट और ना ही ऑब्जेक्ट हैं।इसके अलावा उन्होंने बिमल गुरुंग के उद्देश्य से कहा था कि कोई भी कानून से ऊपर नहीं है। उनके नाम पर कई मामले हैं। पहाड़ अभी शांत हैं।पर्यटक भी आ रहे हैं।वहीं, राज्यपाल जगदीप धनखड़ दार्जिलिंग में हैं। 1 दिसंबर तक उनके कई कार्यक्रम हैं।हालांकि, अभी तक मोर्चा के किसी प्रतिनिधि को चर्चा के लिए नहीं बुलाया गया है।