दिल्ली- पूरा देश इस वक़्त प्रदर्शन के दौर से ग़ुज़र रहा है, सीएए और एनआरसी को लेकर लोग सड़कों पर उतरकर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर कर रहे हैं। इस क़ानून के खिलाफ आंदोलन की शुरुआत जामिया मिल्लिया इस्लामिया से हुई उसके बाद शाहीनबाग़ की महिलाओं ने देश ही नहीं बल्कि दुनिया का भी ध्यान अपनी तरफ खींच लिया। देखते ही देखते देश के अलग अलग हिस्सों में कई शाहीनबाग़ उठ खड़े हुये।

दिल्ली में ही स्थित खुरेजी इलाक़े की महिलायें सड़कों पर आ गईं और इस आंदोलन में अपना नाम दर्ज करवा लिया। खुरेजी में महज 4 लोगों ने इस प्रदर्शन की शुरूआत की लेकिन देखते-देखते आज वहां पर हज़ारों की तादाद में महिलायें 24 घंटे इस क़ानून के खिलाफ धरने पर बैठी रहती हैं।

कह सकते हैं दिल्ली में शाहीनबाग़ के बाद खुरेजी में सबसे बड़ा आंदोलन हो रहा है, जहां पर सिर्फ महिलायें पूरे आंदोलन का लीड करती हुई नज़र आ रही हैं। हर आयु वर्ग के लोग इस प्रदर्शन में शामिल हो रहे हैं। यह प्रदर्शन पिछले 10 दिनों से शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा है।