230 Views

नई दिल्ली, 17 सितंबर 2019, (आरएनआई)। केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे खेलो इंडिया गेम्स को विस्तार देने और फुटबॉल के क्षेत्र में नई इबारत लिखने के लिए केंद्र सरकार खेल के क्षेत्र में कई नई लीग शुरू करने जा रही है। इसी कड़ी में लड़कियों को जमीनी स्तर पर खेल से जोड़ने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए साई एक नई लीग शुरू करने जा रही है। जिसका नाम खेलो इंडिया गर्ल्स लीग (केआईजीएल) होगा।

इसके तहत भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) देशभर में पहली बार लड़कियों को फुटबॉल खिलाने का अभियान शुरू कर रहा है। खेलाे इंडिया गर्ल्स लीग में बैडमिंटन, टेबल टेनिस, बाॅक्सिंग समेत 10 से 12 खेलों को शामिल किया गया है। सिर्फ लड़कियों के लिए इन खेलों की लीग शुरू की जाएंगी।

खेलो इंडिया गर्ल्स फुटबॉल लीग को ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (एआईएफएफ) तकनीकी और संगठनात्मक रूप से समर्थन कर रहा है। सभी प्रस्तावित लीग नेशनल स्पोर्ट्स फेडरेशंस और संबंधित राज्य सरकारों के सहयोग से आयोजित किए जाएंगे।

हालांकि, फुटबॉल लीग से संबंधित तारीख और जगह की सरकार द्वारा घोषणा बाकी है। ऐसा माना जा रहा है कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स के तीसरे चरण के तहत इसे आयोजित किया जाएगा और इसकी घोषणा अगले साल 10-22 जनवरी तक गुवाहाटी में हो सकती है। इस बार खेलो इंडिया यूथ गेम्स में ताइक्वांडो और साइकिलिंग को शामिल किया जा सकता है।

भारत में अगले साल होने वाले अंडर-17 महिला फुटबॉल विश्व कप की तैयारियों के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला लिया है। महिला फुटबॉल विश्व कप अगले साल देश में छह जगहों पर खेला जाएगा। इसलिए सबसे पहले फुटबाॅल लीग शुरू होगी। इसमें अंडर-17 से शुरुआत होगी। इसके बाद अंडर-13, अंडर-15 को भी शामिल किया जाएगा।

एक लीग में 16 टीमें खेलेंगी। हर शहर में कम से कम 16 टीमें तैयार की जाएंगी और फिर इनके बीच मुकाबले होंगे। हर टीम एक-दूसरे से करीब चार-पांच माह में 15 मैच खेलेंगी। गर्ल्स लीग शुरू करने का मकसद यह है कि लड़कियों को हर तरह के खेलों से जोड़ा जाए ताकि वे राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम रोशन कर सकें।

बैडमिंटन की वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु ने कहा कि, खेलो इंडिया गर्ल्स फुटबॉल लीग समय की जरूरत है। खेलो इंडिया और ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन की ओर से लड़कियों के लिए कराए जा रहे अंडर-17 फुटबॉल लीग का मैं समर्थन करती हूं। उन्होंने कहा कि सभी उम्र की लड़कियों को हर तरह के खेलों में भाग लेना चाहिए ताकि देश खुशहाल और स्वस्थ रहे।