बिना परीक्षा के पास होगें विद्यार्थी व बहुरेगे टेट उतीर्ण वालों के भाग्य
कोलकाता। राज्य की ममता बनर्जी ने इस सत्र की साल 2021 में होने 10वी और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को नहीं कराने का फैसला लिया है.ने आज फैसले के बारे में बताया. मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, राज्‍य के शिक्षा विभाग ने तय किया है कि वर्तमान में कक्षा 10वीं ओर 12वीं में पढ़ रहे छात्रों की फाइनल एग्‍जाम नहीं होगी. उन्‍हें पास किए जाने की अनुमति होगी. वहीं सीएम ने यह भी कहा कि कोरोना की स्थिति समान्य होने पर टेट की परीक्षा में पास होने वालों की शिक्षक की नौकरी की प्रक्रिया भी शुरु होगी।

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण की मार से जूझ रहे पश्चिम बंगाल की सरकार इस सत्र के लिए बोर्ड परीक्षा नहीं कराने का फैसला लेने वाली पहली सरकार है.पश्चिम बंगाल सरकार का यह कदम इस कयासों के बीच आया है कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी 2021 में कोरोना महामारी के कारण कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का शेड्यूल बदल सकता है. इससे पहले, सीबीएसइ ने महामारी के कारण केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा स्थगित कर दी थी और यह परीक्षा अब 31 जनवरी, 2021 को आयोजित की जाएगी.