268 Views

लखनऊ: लखनऊ के घंटाघर के पास चल रहे विरोध प्रदर्शन के मामले में यूपी पुलिस ने महिलाओं के खिलाफ केस दर्ज किया है, जिसमें उर्दू दुनिया के मशहूर शायर मुनव्वर राणा की दो बेटियां भी शामिल हैं।

इस पर राणा ने सराकर पर निशाना साधते हुये सवाल किया, “मेरी बेटियों सुमैया और फौजिया के खिलाफ निषेधाज्ञा के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया, लेकिन अमित शाह के बारे में क्या कहेंगे, जिन्होंने राजधानी में हजारों लोगों को संबोधित किया? जनसभा में निश्चित तौर पर चार से ज्यादा लोग थे। दो अलग-अलग व्यक्तियों के लिए एक कानून के दो पहलू कैसे हो सकते हैं?”

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मुनव्वर राणा का समर्थन करते हुए कहा, “धारा 144 केंद्रीय गृहमंत्री के लिए क्यों नहीं है? निषेधाज्ञा के उल्लंघन के लिए आम आदमी को उठाया जा रहा है, लेकिन जब सत्तारूढ़ भाजपा की बात हो तो प्रशासन खुशी-खुशी उन्हें कानून तोड़ने की अनुमति दे देता है।”