रिपोर्ट- फैज़ान शेख

विश्वकप 2019 के लिए भारतीय टीम में जगह ना मिल पाने से आहत होकर मध्‍यक्रम के बल्‍लेबाज अंबाती रायुडू ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्‍यास लेने की घोषणा कर दी है. रायडू विश्वकप 2019 के लिए भारतीय टीम में चयन के मज़बूत दावेदार माने जा रहे थे, उनकी फॉर्म में भी कोई कमी नजर नहीं आ रही थी और इसी को देखते हुए लग रहा था कि रायुडू को विश्वकप की 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया जाएगा, लेकिन उनको चयनकर्ताओं ने टीम में शामिल नहीं किया औऱ उनकी जगह युवा खिलाड़ी विजय शंकर को टीम में शामिल कर लिया गया.

इसके बाद जब विश्वकप के दौरान बीच में ही शिखर धवन और विजय शंकर चोटिल होकर टीम से बाहर हुए तो फिर उम्मीद जगी कि रायुडू को मौका मिल सकता है लेकिन चयनकर्ताओं ने ऋषभ पंत और मयंक अग्रवाल जैसे युवा खिलाड़ि‍यों पर भरोसा करना ही ठीक समझा. अब ऐसा कहा जा रहा है कि इसी से अंबाती रायुडू ने बेहद दुखी होकर संन्यास लेने का कठोर फै़सला कर लिया है.

हालांकि रायुडू ने अभी तक अपने संन्यास का कारण जग जाहिर नहीं किया है. रायुडू के दुख का अंदाज़ा इसी बात से लगा सकते है कि उन्होंने कहा है कि वह आईपीएल जैसे लीग में भी नहीं खेलेंगे. लेकिन विदेशों में अन्य टी 20 लीगों में खेलने के लिए अगर बीसीसीआई अनुमति दे तो वो विदेशो में जाकर जरुर खेलेंगे.

आपको बता दें की अंबाती रायुडू ने भारत के लिए  50 एकदिवसीय मैच खेले हैं. इसमें रायडू ने शानदार 47.05 की औसत से 1694 रन बनाए हैं जिसमें 124  का उनका सर्वोच्च स्कोर है. उन्होंने तीन शतक और 10 अर्द्धशतक भी लगाए हैं और उनका इस दौरान स्ट्राइक रेट 79.04 है. उन्होंने जो पांच T20 पारी खेली हैं, उनमें उन्होंने महज़ 10.50 की औसत से 42 रन बनाए हैं.