आरा, 11 मार्च (आरएनआई) | लोक सभा निर्वाचन 2019 को ध्यान में रखते हुए जिला दंडाधिकारी भोजपुर श्री संजीव कुमार द्वारा दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अंतर्गत निषेधाज्ञा लागू की गई है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोक सभा निर्वाचन 2019 की घोषणा 10 मार्च को कर दी गई है ।भारत निर्वाचन आयोग की घोषणा की तिथि से ही आदर्श आचार संहिता प्रभावी है। इस दौरान विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा चुनाव प्रचार कार्यक्रम प्रारंभ कर दिया गया है। इस अवधि में विभिन्न राजनीतिक दलों तथा प्रत्याशियों द्वारा चुनाव प्रचार हेतु जनसभा एवं जुलूस का आयोजन किया जाएगा। जनसभा एवं जुलूस में राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता एवं प्रतिस्पर्धा के कारण शस्त्र एवं शक्ति प्रदर्शन कर मतदाताओं को प्रभावित करने एवं आतंकित किए जाने तथा विधि व्यवस्था भंग होने की प्रबल संभावना है। इसके अतिरिक्त मतदाताओं को डराने ,धमकाने, जातीय, सांप्रदायिक तथा धार्मिक विद्वेष की भावना फैलाने के लिए अवांछित एवं असामाजिक तत्वों के सक्रिय होने के कारण विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो सकती है जिसके कारण लोक शांति भंग हो सकती है।

इसे ध्यान में रखते हुए जिला दंडाधिकारी भोजपुर ने चुनाव प्रक्रिया समाप्त होने तक अथवा अधिकतम 60 दिनों तक जो भी पहले हो दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए संपूर्ण भोजपुर जिला के अंतर्गत निम्न आदेश जारी किया गया है।

किसी भी व्यक्ति राजनीतिक दल संगठन के द्वारा राजनीतिक प्रयोजन से संबंधित किसी भी प्रकार की सभा जुलूस ,धरना या प्रदर्शन तथा ध्वनि विस्तारक यंत्र का प्रयोग बिना सक्षम पदाधिकारी की पूर्वा अनुमति के आयोजित नहीं किया जाएगा। साथ ही अनुमति की शर्तों के प्रतिकूल कोई भी कार्य नहीं किया जाएगा ।ध्वनि विस्तारक यंत्र का प्रयोग रात्रि 10:00 बजे से प्रातः 6:00 बजे तक वर्जित रहेगा। कोई भी व्यक्ति अथवा राजनीतिक दल अथवा संगठन किसी प्रकार का पोस्टर, पर्चा आलेख, फोटो आदि अथवा किसी व्यक्ति विशेष के विरुद्ध आपत्तिजनक परचा आलेख फोटो आदि का प्रकाशन नहीं करेंगे जिससे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन हो। कोई भी व्यक्ति राजनीतिक दल अथवा संगठन किसी धार्मिक स्थल का प्रयोग राजनीतिक प्रचार आदि के लिए नहीं करेंगे एवं सांप्रदायिक भावना को भड़काने का कार्य नहीं करेंगे। कोई भी व्यक्ति राजनीतिक दल अथवा संगठन मतदाताओं को डराने धमकाने एवं किसी भी प्रलोभन में लाने का कार्य नहीं करेंगे। प्रदूषण फैलाने वाले प्रचार सामग्रियों का इस्तेमाल राजनीतिक प्रचार प्रसार के लिए नहीं किया जाएगा। कोई भी व्यक्ति आग्नेय अस्त्र तीर धनुष लाठी भाला गड़ासा एवं मानव शरीर के लिए घातक कोई भी हथियार का प्रदर्शन सार्वजनिक रूप से नहीं करेंगे। किसी भी राजनीतिक दल अथवा व्यक्ति अथवा संगठन के द्वारा भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आदर्श आचार संघिता के संदर्भ में समय-समय पर जारी दिशा निर्देश के विपरीत कोई कार्य नहीं किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव 2019 हर हाल में स्वतंत्र, निष्पक्ष ,शांतिपूर्ण एवं भय रहित वातावरण में संपन्न होंगे तथा चुनाव की घोषणा के साथ ही जिले में आदर्श आचार संहिता लागू है ।आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर संबंधित व्यक्ति को चिन्हित कर विधि सम्मत कठोर कार्रवाई की जाएगी । इस परिप्रेक्ष्य में जिलाधिकारी श्री संजीव कुमार ने अपने कार्यालय कक्ष में विभिन्न राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की तथा उन्हें भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदत्त दिशा निर्देश से अवगत कराया ।उन्होंने कहा कि इसलिए संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत सभी राजनीतिक दल अथवा उम्मीदवार पोस्टर ,बैनर, फ्लेक्स आदि हटा ले ।पोस्टर बैनर फ्लेक्स आदि वर्तमान स्थिति में सार्वजनिक स्थलों पर लगे हुए पाए जाएंगे तो ऐसी स्थिति में अधिकारियों के द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी उन्होंने कहा की किसी भी राजनीतिक दल अथवा उम्मीदवार द्वारा मतदाताओं को प्रलोभन देने तथा चुनाव कार्य को प्रभावित करने की कोशिश नहीं की जाएगी जो भी व्यक्ति आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करेंगे तो उन पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट को क्षेत्रों में घूमकर संवेदनशील बूथों क्षेत्रों मतदान केंद्रों को चिन्हित करने तथा अपराधियों की सूची तैयार कर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है साथी वैसे असामाजिक तत्वों पर 107 की कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है जिलाधिकारी ने कहा है की आगामी लोकसभा चुनाव हर हाल में स्वतंत्र निष्पक्ष शांतिपूर्ण एवं भय रहित वातावरण में संपन्न होंगे ।