364 Views

कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है, जिसकी वजह से लाखों प्रवासी मजदूर शहरों में फंस गये हैं। भूख से परेशान होने की वजह से पैदल ही लोग घरों की तरफ निकल पड़े।

लेकिन घर पहुंचने से पहले बीच रास्ते में ही उनमें से कई को कभी वाहनों ने टक्कर मार दी, कभी उनके वाहन पलट गये या दो गाड़ियों के बीच टक्कर में उनकी मौत हो गई, या कभी पटरियों पर रेलगाड़ी से कट कर मौत हो गई।

प्रवासी मजदूरों की मौतों का सिलसिला अभी भी नहीं रुक रहा है, रोज़ाना ख़बरें आ रही हैं।

सेव लाइफ फाउंडेशन के मुताबिक 25 मार्च को लॉकडाउन शुरू होने के बाद से 18 मई सुबह 11 बजे तक लगभग 1,236 सड़क दुर्घटनाएं हुई हैं, जिनमें 423 लोगों की मौत हुई है और 833 लोग घायल हुए।

(सोर्स द वायर)