322 Views

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Election 2020) कांग्रेस (Congress) ने मंगलवार को अपने शीर्ष नेताओं मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) , राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को दिल्ली में चुनाव प्रचार के लिए उतारा. एक रैली को संबोधित करते हुए पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) PCU की तरह ‘ताजमहल भी बेच सकते हैं.’ राहुल ने जंगपुरा और संगम विहार में दो रैलियों को संबोधित किया, जबकि उनकी बहन और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने उनकी दूसरी रैली में उनके साथ मंच साझा किया.

दोनों भाई-बहन ने मोदी एवं भाजपा (BJP) तथा अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) एवं आप पर घृणा फैलाने और रोजगार के लिए कुछ नहीं करने का आरोप लगाया. ऐसा पहली बार है कि दिल्ली चुनाव के प्रचार अभियान में कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व अपने उम्मीदवारों के लिए प्रचार के लिए उतरे हैं. सोमवार को केवल राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने चुनावी रैलियों को संबोधित किया था.

वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मंगलवार को कहा कि यह शर्म की बात है कि पढ़े लिखे होने के बावजूद हमारे युवकों को रोजगार के लिए भटकना पड़ता है और ऐसे में यदि दिल्ली में कांग्रेस सत्ता में आती है तो बेरोजगारी से निपटने के लिए ‘ठोस कदम’ उठाये जाएंगे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने तिलक नगर में एक चुनाव सभा में कहा, ‘मैं कुछ ऐसे मुद्दे उठाना चाहता हूं जो आज युवाओं से जुड़े हैं. शिक्षा पर इतना सारा पैसा खर्च करने के बाद भी उन्हें रोजगार के लिए भटकना पड़ता है. यह शर्म की बात है.’