कोलकाता। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज सुबह ट्वीट में दावा किया कि राज्य सरकार युवाओं को खेल के प्रति बढ़ावा दे रही है। उनहोंने यह दावा अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर किया है। सीएम ने दावा किया कि उनकी सरकार ने खेल के प्रति युवाओं के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए तमाम तरह की खेल प्रतिस्पर्धाएं आयोजित करने की शुरुआत की है। आज सुबह सीएम ने इस बारे में ट्वीट करते हुए लिखा कि आज विकास और शांति के लिए समर्पित अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस है। हम सभी जिलों में जंगलमहल कप, हिमाल-तराई-डुआर्स स्पोर्ट्स फेस्टिवल, सुंदरवन कप, फुटबॉल और अन्य टूर्नामेंट आयोजित करते हैं, ताकि युवाओं में आत्मविश्वास पैदा किया जा सके। ये पहल बंगला में सद्भाव को मजबूत करती है। उल्लेखनीय है कि हर साल संपूर्ण विश्व में 06 अप्रैल को ‘विकास और शांति हेतु अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस’ मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने 23 अगस्त, 2013 को प्रतिवर्ष 06 अप्रैल को ‘अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस’ के रूप में घोषित किया और दुनिया के विभिन्न देशों ने इस दिन को अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाने की अपील की। अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी के संस्थापक सह आधुनिक ओलिंपिक खेलों के जनक फ्रांसीसी इतिहासकार पियरे फ्रेडे बैरोन डि कूबर्टिन के प्रयास से 06 अप्रैल 1896 को एथेंस (ग्रीस) में प्रथम आधुनिक ओलंपिक खेलों का उद्घाटन किया गया था, इसलिए इस दिन को अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस मनाने का फैसला लिया गया है। इस दिवस का उद्देश्य समाज में खेल की भूमिका एवं योगदान को बढ़ावा देना है। अंतरराष्ट्रीय, क्षेत्रीय, राष्ट्रीय खेल और विकास संगठनों द्वारा समाज में खेल की भूमिका व योगदान हेतु यह दिन प्रत्येक वर्ष विश्व स्तर पर मनाया जाता है।