147 Views

राजस्थान में कोटा के एक अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला अभी थमा नहीं है, जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़कर रविवार को 110 पहुंच गया है। अस्पताल में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत के बाद सरकार ने जांच पैनल नियुक्त किया था।

अब वहीं गुजरात के राजकोट में भी मासूमों की मौत की घटना सामने आ गई है। बताया जा रहा है कि राजकोट के एक सरकारी अस्पताल में पिछले एक महीने यानी दिसंबर में 134 बच्चों की मौत हुई है। जिसमें बच्चों की मौत की वजह कुपोषण, जन्म से ही बीमारी, वक्त से पहले जन्म, मां का खुद कुपोषित होना बताया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि राजकोट में सिविल अस्पताल में मरने वाले सभी बच्चे नवजात थे। अस्पताल के एनआईसीयू में ढाई किलो से कम वजन वाले बच्चों को बचाने की व्यवस्थाएं और क्षमता ही नहीं है। लेकिन ये ख़बर आपको बहुत कम दिखाई देगी। क्योंकि वह अशोक गहलोत से इस्तीफा मांगने में लगे हैं।

आपको बता दें कि अब इन मासूमों की लाश पर भी राजनीति शुरू हो गई है।

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा है उन्होंने लिखा-  ‘विजय रूपानी,CM,गुजरात खुद राजकोट से विधायक हैं। राजकोट के अस्पताल में जनवरी से दिसंबर के बीच 1,235 मासूमो की मौत हो गई। अहमदाबाद सिवल अस्पताल में 3 महीने में 375 मासूमो की मौत हो गई, जहां से अमित शाह सांसद हैं। सवाल पूछने पर CM भाग खड़े हुए क्या PM ऐसे CM को बर्खास्त करेंगे?