जिस तरह देश की सेना ने PoK में घुस कर बमबारी की है और आतंकियों के खेमों खलबली मचा दी है, सेना ने विश्व की पांचवीं सब से मज़बूत सेना होने के गौरव को साबित कर दिया है। झूटी मीडिया और विपक्ष के ज़रिये जिस तरह सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़े हुए थे अब वक़्त आ गया है उन सभी सवालों समेत देश की जनता को भी यकीन दिला दिया जाये की हम शांति वाद में यकीन रखते हैं लेकिन अगर कोई हमें छेड़ता है तो हम उसे छोड़ेंगे नहीं। मोदी जी! अब जब कि पाकिस्तान पर हमला कर ही दिया है तो लगे हाथ अबोटाबाद दोहरा दिया जाये और अमरीका को भी बता दिया जाये कि हम घुस कर मार सकते हैं। हाफिज़ सईद और अज़हर मसूद जैसे अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादियों को जिंदा या मुर्दा लाकर देश और दुनिया के साथ चीन को भी बता दिया जाये कि पाकिस्तान के बाद बारी चीन की है। अरुन्चांचल प्रदेश में देश के कई किलोमीटर पर चीन का नाजायज़ क़ब्ज़ा हमें बिलकुल मंज़ूर नहीं। धोकलाम जैसी कई घटनाएँ हम भूले नहीं हैं।

मोदी जी देश की 130 करोड़ जनता सेना के साथ है। सेना अपनी ताक़त के साथ तैयार है। पाकिस्तान को हर तरह की मदद पहुँचाने और धीरे धीरे हमारी सरहदों में घुस कर सैन्य परेड और परिक्षण के साथ कई किलोमीटर के भारत पर अवैध क़ब्ज़ा करने और आये दिन जवानों को शहीद करने वाले चीन को भी सबक़ सिखाने का वक्त आ गया है। इस से पहले कि जवानों के यह हमले राजनैतिक मोड़ ले लें भारत के विरुद्ध उठने वाली हर आँख में आँख डाल कर देख लिया जाये।

यदि आप ऐसा करते हैं तो देश की जनता आप को भूलेगी नहीं। चीन ही की मदद से कश्मीर में नफ़रत की चिंगारी को हवा मिलती है। पाकिस्तान में मौजूद आतंकिओं को भी शह और ताक़त मिलती है। सेना की ताक़त की गूंज एक तरफ पाकिस्तान तो दूसरी तरफ चीन दोनों जगह सुनाई देनी चाहिए। गूंज ऐसी को कि बरसों आने वाली नस्लें भी भारत के विरुद्ध षडयंत्र रचने से पहले सौ बार सोंचें।

आप का यह एतिहासिक क़दम इतिहास के पन्नों में अमर हो जायेगा। हमले और युद्ध की राजनीतिकरण की सारी बातें हवा में उड़ जाएँगी।

मोदी जी बस यही दो काम और कर दीजिये! हाफिज़ सईद जिंदा या मुर्दा के साथ चीन की आँखें बड़ी कर दीजिये!

(janta#Hasan)