कोलकाता। कई दिनों से कथित परेशान रहने की बात करने वाले तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी ने आज मीडिया के सामने आये व अपना पक्ष रखा। सीएम ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी ने आज मीडिया के सामने केंद्र सरकार और बीजेपी को खुली चुनौती दी है। बीते दिनों कोलकाता एयरपोर्ट पर अभिषेक बनर्जी की पत्नी के पास से सोने की बरामदगी की रिपोर्ट्स और पुलिस एवं कस्टम विभाग के अधिकारियों के बीच इस मामले को लेकर हुई तनातनी की खबरों के बाद उन्होंने मीडिया के सामने अपना पक्ष रखा है। अभिषेक ने कहा है कि अगर उनपर और उनकी पत्नी पर लगे आरोप साबित होते हैं तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे।

दरअसल, 15-16 मार्च को मीडिया में ऐसी रिपोर्ट्स सामने आई थीं कि सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी को कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर 2 किलोग्राम सोने के साथ पकड़ा गया था। रिपोर्ट्स के अनुसार, इस सोने की बरामदगी के बाद कस्टम विभाग के कुछ अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की थी, लेकिन बाद में कोलकाता पुलिस के हस्तक्षेप पर उन्हें छोड़ दिया गया था। अभिषेक बनर्जी ने इन्हीं रिपोर्ट्स का खंडन करते हुए कहा है कि मैं और मेरी पत्नी इस मामले की जांच के लिए तैयार हैं।

इस संबंध में एयरपोर्ट की सीसीटीवी फुटेज की जांच कराई जानी चाहिए और अगर किसी भी तरह यह साबित होता है कि मेरी पत्नी को कोलकाता पुलिस की ओर से कोई भी प्रिविलेज दिया गया हो, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। अभिषेक ने कहा है कि उनके खिलाफ राजनीतिक साजिश हो रही है और वह इस संबंध में खबर फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कराएंगे।

बता दें कि अभिषेक बनर्जी पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के भतीजे हैं और वह डायमंड हार्बर लोकसभा सीट से सांसद भी हैं। अभिषेक बनर्जी की पत्नी के खिलाफ लगे इन आरोपों पर तमाम बीजेपी नेताओं ने भी उनकी आलोचना की थी, जिसके बाद अभिषेक ने इसे एक राजनीतिक षड़यंत्र बताया।