287 Views

नई दिल्ली, 10 नवंबर 2019, (आरएनआई )। अयोध्या मामले के प्रमुख पक्ष सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जुफर फारुकी का कहना है कि मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन हमें लेनी चाहिए या नहीं इसका फैसला बोर्ड की 26 नवंबर को होने वाली बैठक में लिया जाएगा।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर फैसला सुनाते हुए रामजन्मभूमि की जमीन रामलला को दे दी। वहीं, मस्जिद के पांच एकड़ जमीन देने का आदेश केंद्र सरकार को दिया है।

बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि यह बैठक पहले 13 नवंबर को होने वाली थी लेकिन इसे 26 तक के लिए टाल दिया गया। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने हमें सलाह दी कि मस्जिद के लिए जमीन न लेने से नकारात्मकता बढ़ेगी जो कि ठीक नहीं है। जबकि कुछ लोगों ने कहा कि जमीन लेकर यहां शिक्षा संस्थान और साथ में मस्जिद बनाइए।

उन्होंने कहा कि मामले पर फैसला 26 नवंबर को होने वाली बैठक में लिया जाएगा।