173 Views

कोलकाता।देश की कई कल्याणकारी योजनाओं के लाभ से बंगाल की जनता वंचित हैं. कभी बंगाल देश को राह दिखाता था और आज पूरी तरह से पिछड़ गया है. उक्त बात आज केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कही।केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भाजपा की जनसंवाद वर्चुअल रैली को संबोधित करने के दौरान उक्त बात कही।

सीतारमण ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का विरोध कर बंगाल की जनता का अहित करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि राजनीतिक हिंसा के कारण राज्य में लोग उद्योग में निवेश करने से संकोच कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बंगाल में पिछले पांच साल से हिंसा की राजनीति चल रही है.

विरोधी दल के नेताओं को गिरफ्तार कर लिया जाता है. खून खराबा होता है. इस कारण बंगाल में उद्योग व निवेश में संकोच करते हैं. कानून व्यवस्था ठीक रहे, तो बंगाल में फिर से उद्योग की कोशिश हो सकती है. माकपा, कांग्रेस, तृणमूल से लोगों का विश्वास समाप्त हो गया है.

श्रीमती सीतारमण ने धारा 370, नागरिकता संशोधन कानून, तीन तलाक, किसान सम्मान योजना, आयुष्मान भारत, एक देश एक राशन कार्ड जैसे मामलों का उल्लेख करते हुए कहा कि केंद्र सरकार देशहित में फैसला लेती है, लेकिन मां, माटी, मानुष की ममता बनर्जी की सरकार उन्हें बंगाल में लागू नहीं करती है. इससे केंद्रीय योजनाओं के लाभ से बंगाल के लोग वंचित रह जाते हैं.

जनसंपर्क वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए श्रीमती सीतारमण ने राज्य की जनता से परिवर्तन का आह्वान करते हुए सवाल किया कि क्या ऐसा सरकार चाहिए, जो अपने नागरिकों के लिए केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाल सुविधा का लाभ उठाने से भी इनकार कर दे.तृणमूल  के कुशासन की वजह से बंगाल की जनता तरस रही है.आज बंगाल देश में सबसे ज्यादा पिछड़ गया है.