103 Views

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बनारस हिंदू विश्वविद्धालय में छात्र संघ की बहाली को लेकर कुछ छात्र भूख हड़ताल पर बैठे हैं। छात्रों का कहना है कि छात्र हितों की रक्षा छात्रसंघ ही कर सकता है, जिसके चलते हम लोग भूख हड़ताल रक बैठने को मजबूर हो गये।

भूख हड़ताल पर बैठे छात्र आशुतोष ने नया सवेरा से बात करते हुये कहा कि हमलोग 6 घंटे से निम्नलिखित माँगों को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे हैं लेकिन प्रशासन की तरफ से कोई मिलने तक नहीं आया। पहले तो टॉयलेट व पानी पीने की जगह को बंद कर रहे थे लेकिन नोक झोंक के बाद उन्हें खुला छोड़ना पड़ा।

इनका छात्र विरोध रवैया साफ साफ जाहिर होता है। साथ ही उन्होंने कहा कि हम सभी छात्र छात्राओं , बुद्धिजीवियों और न्यायपसन्द नागरिक समाज से अपील करते हैं हमारा समर्थन करें।

आपको बता दें अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर पांच लोग बैठे हैं, विश्वनाथ, आकांक्षा ,आशुतोष, रंजन, शशिकांत। हड़ताल पर बैठे छात्रों का कहना है कि जब तक हमरी मांगे पूरी नहीं होती हम भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे।

हड़ताल पर बैठे छात्रों की प्रमुख माँगें:-

1. सभी स्टूडेंट्स को हॉस्टल मुहैया कराया जाय और जबतक होस्टल नहीं मिल जाता तब तक उन्हें डेलीगेसी भत्ता दिया जाये।

2. लाइब्रेरी को 24 घंटे खोला जाय, नई व जरूरी पुस्तके तत्काल मँगाई जाय, व साइबर लाइब्रेरी में सीटों की संख्या बढ़ाकर 1000 की जाये।

3. महिला छात्रावासों से कर्फ्यू टाईमिंग खत्म की जाय व छात्राओं की सुरक्षा के लिये GSCASH (Gender sensitization committee against sexual harassment) लागू किया जाये।

4. विश्वविद्यालय के सभी विभागों व संकाय में महिला शौचालय बनवाया जाये।

5. कैम्पस में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगाई जाये।

6. विकलांग छात्र – छात्राओं के लिए EOC (Equal opportunity cell) का गठन किया जाय। जो उनके अकादमिक व अन्य जरूरत की चीजों को मुहैया करायेगा।

7. छात्र संघ, कर्मचारी संघ व शिक्षक संघ बहाल करो।

8. सभी महिला छात्रावासों में कैंटीन की व्यवस्था की जाय। और कैंपस में 24×7 कैंटीन की व्यवस्था की जाये।

9. सभी हॉस्टल के मेस व कैंटीनों को सब्सिडीयुक्त कर सस्ता किया जाये।

10. नवीन हॉस्टल में एक रूम में 2 से अधिक छात्राओं का आवंटन बंद किया जाये।

11. महिला छात्रावासों में non academic staff  को ही वार्डन सहित अन्य पदों पे नियुक्त किया जाये।