47 Views

पटना, 24 सितंबर 2019, (आरएनआई)। बिहार के मान सम्मान को अंतरराष्ट्रीय स्तर तक बढ़ाने वाले विश्वविख्यात गणितज्ञ डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह की ज्ञान विज्ञान को संग्रहित करने और 40 वर्षों से गुमनामी की जिंदगी जी रहे इस शख्स को पुनर्जीवित करने के लिए प्रारंभ शुक्रिया वशिष्ठ की टीम को 25 सितंबर को बिहार के राज्यपाल सम्मानित करेंगें. इस आशय की जानकारी बिहार पब्लिक स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ डीके सिंह ने दी .उन्होंने बताया कि बिहार के प्राइवेट स्कूलों के लगभग 25 सौ से ज्यादा प्रिंसपल इस कार्यक्रम में पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में उपस्थित रहेंगे .

शुक्रिया वशिष्ठ के माध्यम से इस वर्ष बिहार के 40 होनहार बच्चों को निशुल्क आवासीय कोचिंग की सुविधा प्रदान की गई है जिसमें वह मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी करेंगे जिसका पूरा खर्च पटना ग्रीन हाउसिंग प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक भूषण कुमार सिंह बबलू ने वहन किया है. अपनी मानसिक संतुलन खोने के बाद गुमनाम हो चुके वशिष्ठ नारायण सिंह बरसों बाद छपरा के डोरीगंज में मिले थे इस कारण से शुक्रिया वशिष्ठ टीम ने छपरा को अपने प्राथमिकता सूची में प्रथम वर्ष ज्यादा तरजीह दी है इस टीम के प्रमुख सदस्य अनूप नारायण सिंह छपरा जिले के मशरख प्रखंड के अरना पंचायत के रहने वाले हैं जबकि भूषण कुमार सिंह बबलू मुजफ्फरपुर जिले के.

टीम के प्रमुख सदस्य डा विजय राज सिंह एकमा सरयूपार के तो शैलेश कुमार सिंह छपरा मानोपाली पिपरा के निवासी है. अभियान के संयोजक मुकेश कुमार सिंह डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह के भतीजे है. इस कार्यक्रम में बरसों बाद किसी सार्वजनिक मंच पर डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह भी नजर आएंगे.

(पटना से अनूप नारायण सिंह की रिपोर्ट)