118 Views

भारत ने संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद में इज़रायल के एक प्रस्ताव के समर्थन में वोट किया है। इजराइली प्रस्ताव में फलस्तीन के एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) को सलाहकार का दर्जा दिए जाने पर आपत्ति जतायी गयी थी। इजराइल का कहना है कि संगठन ने हमास के साथ अपने संबंधों का खुलास नहीं किया था।

इजराइल ने संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद में छह जून को मसौदा प्रस्ताव ‘‘एल.15’’ पेश किया. इस प्रस्ताव के पक्ष में रिकार्ड 28 मत पड़े जबकि 15 देशों ने इसके खिलाफ मतदान किया जबकि पांच देशों ने मत विभाजन में भाग नहीं लिया।