170 Views

कोलकाता।राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए ममता बनर्जी के राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर को जेड कैटिगरी का सिक्योरिटी कवर मिलेगा। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री और टीएमसी चीफ ममता बनर्जी इसको लेकर फैसला किया है। राज्य सचिवालय के सूत्रों ने प्रशांत किशोर को जेड सिक्योरिटी कवर दिए जाने की पुष्टि की है। उनके मुताबिक, गृह विभाग ने इसको लेकर सारी औपचारिकताएं भी पूरी कर ली हैं।

हालांकि प्रशांत किशोर की तरफ से इस पर अभी तक कुछ नहीं बोला गया है। ऐसी भी अटकलें लगाई जा रही हैं कि प्रशांत किशोर 2021 के विधानसभा चुनावों के पहले ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। प्रशांत किशोर को जेड सिक्योरिटी कवर देने की खबरों पर सीपीएम विधायक दल के नेता सुजान चक्रवर्ती ने पूछा कि राज्य सरकार के खर्चे पर किशोर को ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा क्यों दी जा रही है, जबकि पश्चिम बंगाल में सार्वजनिक जीवन से उनका कोई संबंध ही नहीं है।बता दें कि ममता बनर्जी की तरह ही प्रशांत किशोर भी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के प्रखर विरोधी रहे हैं।

ममता बनर्जी ने पिछले साल लोकसभा चुनाव के परिणामों के बाद प्रशांत किशोर को अपनी पार्टी के लिए राजनीतिक रणनीति बनाने के लिए चुना था। आम चुनाव में टीएमसी के अभेद्य गढ़ में बीजेपी ने बड़ी सेंध लगाई थी और 42 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की। इसने ममता बनर्जी की विधानसभा चुनावों को लेकर चिंता बढ़ा दी है।प्रशांत किशोर ने टीएमसी के साथ जुड़ने के 54 दिनों के अंदर ही 29 जुलाई ‘दीदी के बोलो’ कैंपेन की शुरुआत की थी।

छह महीने के अंदर ही टीएमसी ने सातों नगर निगमों पर कब्जा कर लिया, साथ ही अपने जमीनी कार्यकर्ताओं का भी विश्वास हासिल कर लिया। बता दें कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर इससे पहले 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी, 2015 के बिहार चुनाव में नीतीश कुमार, 2019 के तेलंगाना चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस और हाल ही में संपन्न हुए दिल्ली चुनाव में आम आदमी पार्टी के लिए रणनीति बना चुके हैं। इन सभी चुनावों में उन्होंने अपने सहयोगियों को प्रचंड जीत दिलाई है। यही कारण है कि ममता बनर्जी ने उन पर हद से ज्यादा भरोसा दिखाया है।