189 Views

नई दिल्ली, 15 सितंबर 2019, (आरएनआई)। भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की हरकतों पर चिंता व्यक्त की है। मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान द्वारा युद्धविराम का उल्लंघन किए जाने से हमारी चिंता बढ़ गई है। जिसमें पाकिस्तान सीमा पार आतंकवादियों की घुसपैठ और भारतीय नागरिकों और सीमा चौकियों को निशाना बनाने की भी पूरी कोशिश कर रहा है। इस वर्ष, उन्होंने 2050 से अधिक बार युद्धविराम का उल्लंघन किया, जिसमें 21 भारतीयों की मौत हुई है।

मंत्रालय ने आगे कहा, हमने बार-बार पाक से आह्वान किया है कि वह अपनी सेनाओं से 2003 के संघर्ष विराम का पालन करने और नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए कहे। भारतीय बल अधिकतम संयम बरतते हैं और सीमा पार आतंकवादी घुसपैठ पर अकारण उल्लंघन और प्रयासों का जवाब देते हैं।

अंतरराष्ट्रीय मंच पर लगातार मात खाने से बौखलाया पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। खुफिया एजेंसियों के ताजा इनपुट के मुताबिक पाकिस्तान करीब 230 से ज्यादा आतंकियों को एलओसी पर घुसपैठ कराने की फिराक में है। खास बात यह भी है कि इन आतंकियों में अफगानी आतंकी भी शामिल हैं।

सुरक्षा एजेंसियों को जो इनपुट मिले हैं उनके अनुसार पाकिस्तान ने एलओसी पर उत्तरी कश्मीर के केरन, गुरेज और गुलमर्ग इलाके से आतंकियों को सीमा पार धकेलने के लिए 30 लांचिंग पैड बनाए हैं।

पाकिस्तान और पाक की खुफिया एजेंसी आईएसआई लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को इन लांचिंग पैड पर भेज रही है। अफगानिस्तान से भी आतंकी एलओसी की ओर लाए जा रहे हैं। एक अनुमान के मुताबिक 230 से 280 आतंकियों को एलओसी के पास बने इन लांचिंग पैड पर पहुंचा दिया गया है। सीजफायर उल्लंघन की आड़ में इनकी घुसपैठ कराने की कोशिश की जा रही है।

सीमा पर घुसपैठ कराने के लिए पाकिस्तानी सेना की ओर से आतंकियों को कवर फायर दिया जाता है। घाटी के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में स्वीकार किया था कि कई आतंकियों के घुसपैठ की खबरें हैं, जिनकी पुष्टि की जा रही है। पाकिस्तान की ओर से लगातार सीमा पार से आतंकियों को भेजने की कोशिशें की जा रही हैं। इसके लिए लांचिंग पैड पर तैयारी रखी गई है। इसे देखते हुए अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है।