कोलकाता।  राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा की हालिया घटनाओं की आज निंदा की और इसे बढ़ावा देने में भूमिका निभाने वाले लोगों की आलोचना की। दिल्ली में हिंसा में अब तक 39 लोगों की मौत हो गई है।
नफरत को हिंसा का एक अन्य रूप बताते हुए धनखड़ ने कहा कि इस पर चुप रहना भी ‘‘मानवता के खिलाफ एक अपराध’’ है। धनखड़ ने आज ट्वीट किया, ‘‘जो लोग हिंसा में वृद्धि की संभावना या अवसर देखते हैं वे सभ्य नहीं हैं।
विचार/कार्य में हिंसा निंदनीय है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नफरत करना हिंसा का एक रूप है और चुप रहना या नजरअंदाज करना भी मानवता के खिलाफ एक अपराध है। ऐसा चुनिंदा रुख अमानवीय है।’’