104 Views

कोलकाता, 15 सितंबर 2019, (आरएनआई)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि देश घोर आपातकाल से गुजर रहा है। उन्होंने लोगों से संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों और स्वतंत्रता की रक्षा करने की अपील की है। उन्होंने रविवार को अंतरराष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस पर लोगों से अपील की कि वह उन संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करें, जिस पर स्वतंत्र भारत की नींव रखी गई थी।

उन्होंने ट्वीट किया, अंतरराष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस पर एक बार और हम अपने उन संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करने का संकल्प लें, जिस पर देश की नींव रखी गई थी।” उन्होंने कहा, “घोर आपातकाल के दौर में हमें वह सभी चीजें करनी चाहिए जिससे हम संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों और स्वतंत्रता की रक्षा कर सकते हैं।”

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख कई बार कह चुकी हैं कि देश केंद्र में भाजपा नीत राजग सरकार के शासन में घोर आपातकाल से गुजर रहा है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2007 में लोकतंत्र के सिद्धांतों का प्रचार-प्रसार करने के लिए प्रत्येक साल 15 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस मनाने का संकल्प लिया था।

इससे एक दिन पहले 14 सितंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हिंदी दिवस की बधाई देते हुए कहा था कि हमें अपनी मातृभाषा को नहीं भुलाना चाहिए।

ममता बनर्जी ने ट्वीट करके कहा, “सभी को हिंदी दिवस की बधाई। हमें सभी भाषा और संस्कृति का सम्मान करना चाहिए। हम कई नई भाषाएं सीख सकते हैं, लेकिन हमें अपनी मातृभाषा को नहीं भूलना चाहिए।”