आरा, 10 मार्च (आरएनआई) | लोकसभा चुनाव को लेकर सारी पार्टियां अपनी दावेदारी पेश कर रही है। जन अधिकार पार्टी के संरक्षक व मधेपुरा सांसद पप्पू यादव आज आरा पहुँचे, जहाँ उन्होंने केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि इससे पहले भी युद्ध होते थे मगर सेना को लेकर कोई राजनीति नहीं की जाती थी। एक इस धरती पर एयर स्ट्राइक नहीं हुआ है। इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी के सरकार में भी युद्ध हुआ था आजतक उन्होंने इसपर राजनीति नहीं किया था।

मोदी का नाम लिए बिना सांसद पप्पू यादव ने कहा कि पहली बार सेना को लेकर राजनीति हो रही है। ( मोदी ) अपने मुँह मियां मिट्ठू बन रहे हैं। क्या आपने कभी सुना है कि सेना की कामयाबी को सरकार बोलती है। जब कोई भी चाल काम नहीं आया तो वो 130 करोड़ की जनता को युद्ध के आग में डालने का काम कर रहे हैं। कोई भी पॉलिटिशियन इस देश का सिर्फ सियाशत, सत्ता और वोट के सिवा कुछ नहीं सोचता है। सिर्फ चुनाव जीतना ही उनका एकमात्र मक़सद है।

चुनाव में कांग्रेस को लेकर सॉफ्टनेस पर विलय के सवाल को लेकर पप्पू यादव ने कहा कि कितनी भी सीटें मिलेंगी जन अधिकार पार्टी का विलय कांग्रेस में नहीं होगा। जाप पार्टी 2020 विधानसभा चुनाव में बिहार का विकल्प है। मैं गठबंधन के तलाश में नहीं हूँ। जिन्हें गठबंधन करना होगा वो मेरे पास आएंगे। मैं जनता से सीधे गठबंधन करता हूँ। कोई मुझे मेरी औकात दिखाकर मेरे साथ गठबंधन नहीं कर सकता है। बिना नाम लिए महागठबंधन के नेता (शरद यादव) को लेकर उन्होंने कहा कि मैं मधेपुरा सीट नहीं छोड़ सकता हूँ।

गठबंधन को लेकर उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस ने अभी तक हमसे कुछ नहीं कहा है। अगर कांग्रेस गठबंधन को लेकर हमसे कोई बात करती है तो मैं आगे के बारे में सोचूंगा। चुनाव में उतरने को लेकर उन्होंने कहा कि गठबंधन में मैं 2 सीट और बिना गठबंधन के 5 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ूंगा। किसी भी कीमत पर मैं मधेपुरा सीट नहीं छोड़ूंगा।