95 Views

लखनऊ, 25 सितंबर 2019, (आरएनआई)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को प्रदेश की महिलाओं के लिए बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा कि पति से पीड़ित हिंदू और मुस्लिम महिलाओं को 6000 रुपये सालाना सहायता देने का कार्य प्रदेश सरकार द्वारा किया जाएगा।

यह बात मुख्यमंत्री ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित तीन तलाक से प्रभावित महिलाओं से संवाद कार्यक्रम के दौरान कही। इसके साथ ही कार्यक्रम के दौरान सीएम ने तीन तलाक से पीड़ित राष्ट्रीय महिला खिलाड़ी सुमेला जावेद को नौकरी देने को कहा है। साथ ही उसे अपना केस लड़ने की नि:शुल्क सुविधा देने की भी घोषणा भी की।

कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि केवल पीएम मोदी ही ट्रिपल तलाक से मुक्ति दिला सकते थे। ऐसा करके उन्होंने नारी शक्ति को सम्मान दिया है। इसके लिए उन्होंने पीएम का आभार जताया।

सीएम ये भी कहा कि गलत तरह से दूसरी शादी करने वाले हिंदू पुरुषों को भी दंडित किया जाएगा। रिश्ते तोड़ना आसान है, लेकिन जोड़ना कठिन होता है, इसलिए हमारी लड़ाई रिश्ते जोड़ने की है। उन्होंने बताया कि बीते एक साल में 273 मामले ट्रिपल तलाक के हैं। यूपी सरकार ने सभी इन मामलों में मुकदमा दर्ज कराया है।

सीएम ने कहा कि ट्रिपल तलाक से पीड़ित महिलाओं के मुकदमे सरकार नि:शुल्क लड़ने की व्यवस्था करेगी। साथ ही पीड़ित महिलाओं के पुनर्वास के लिए 6000 रुपये सालाना अनुदान देने की योजना भी बनेगी। वहीं शिक्षित महिलाओं के लिए रोजगार की व्यवस्था की जाएगी। बीमा योजनाओं का लाभ ट्रिपल तलाक पीड़ित महिलाओं को दिया जाएगा।