आईएमए ने कहा है कि शुक्रवार से शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन आज और रविवार को भी जारी रहेगा। इसमें डॉक्टर काले रंग के बिल्ले लगाएंगे और धरना देने के अलावा शांति मार्च निकालेंगे। डॉक्टरों के हड़ताल और प्रदर्शनों की वजह से मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

मेडिकल एजुकेशन के निदेशक प्रदीप मित्रा तीन-चार जूनियर डॉक्टरों को बैठक के लिये सचिवालय में बुलाने के लिये कहा वहीं जूनियर डॉक्टरों के संयुक्त मंच के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह हमारी एकता और आंदोलन को तोड़ने की चाल है।

आगे उन्होंने कहा कि हम राज्य सचिवालय में किसी बैठक में शिरकत नहीं करेंगे। बल्कि मुख्यमंत्री को यहां आना होगा और कल एसएसकेएम अस्पताल के दौरे के दौरान उन्होंने हमें जिस तरह से संबोधित किया, उसके लिये बिना शर्त माफी मांगनी होगी।