35 Views

नई दिल्ली, 11 जनवरी 2020, (आरएनआई )। वायुसेना के अध्यक्ष एयर चीफ मार्शल राकेश सिंह भदौरिया ने दक्षिण भारत के तंजावुर में पहले सुखोई-30 लड़ाकू विमान के स्क्वाड्रन को शामिल करने को शक्ति में बहुत बड़ा इजाफा बताया। उन्होंने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को लेकर कहा कि हमने एक नया संयुक्त बुनियादी ढांचा बनाने और संयुक्तता लाने की शुरूआत कर दी है।

वायुसेनाध्यक्ष ने तंजावुर में पहले सुखोई-30 लड़ाकू विमान के स्क्वाड्रन को शामिल करने पर कहा, यह दक्षिणी वायु कमान का हिस्सा होगा। वायु सेना की परिचालन क्षमता के दृष्टिकोण से यह हमारी शक्ति में बहुत बड़ा इजाफा है। इसमें मुख्य रूप से समुद्री भूमिका होगी और निश्चित रूप से अन्य सभी आक्रामक और रक्षात्मक भूमिकाएं होंगी जोकि विमान कर सकता है।

एयर चीफ मार्शन ने दिल्ली के परेड मैदान में एनसीसी कैंप को लेकर कहा, सैन्य सेवाओं के पवित्र चरित्र को बनाए रखने और सामाजिक ताने-बाने की सुरक्षा में एनसीसी की प्रमुख भूमिका है। विविध सांस्कृतिक पृष्ठभूमि से आने वाले कैडेटों को एक व्यापक प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।

वायुसेनाध्यक्ष भदौरिया ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को लेकर कहा, हमने एक नया संयुक्त बुनियादी ढांचा बनाने और संयुक्तता लाने की शुरूआत कर दी है। इसके पीछे विचार तालमेल करना, लागत को नीचे लाना और हमारे पास जो संसाधन हैं उनका ज्यादा से ज्यादा इस्तमाल करना है।।