झारखंड के सरायकेला खरसावां में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है। जहां धातकीडीह में बाइक चोर होने के शक में एक युवक तबरेज अंसारी को भीड़ ने पीट-पीटकर बुरी तरह जख्मी कर दिया और बाद में उसकी अस्पताल में मौत हो गई।

पुलिस ने तबरेज को कैद में रखा था. रविवार को उसकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई. जिसके बाद उसे सदर अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पाकर मृतक के परिजन इक्ट्ठा हुए और पुलिस प्रशासन, जेल प्रशासन और अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाये।

तबरेज के साथी का कहना है कि कथित चोरी की वजह से नहीं बल्कि उसकी हत्या सांप्रदायिक कारणों से हुई है। उसे जय श्रीराम और जय हनुमान जैसे नारे लगाने को मजबूर किया गया। आगे उन्होंने कहा कि भीड़ ने तबरेज की पिटाई की और बाद में उसे पुलिस को दे दिया।