हरदोई। हरदोई के जीआईसी मैदान मे ऊषा वर्मा के पक्ष मे आयोजित रैली को सम्बोधित करते हुये उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर करारा हमला बोलते हुये कहा कि भाजपा सरकार मे केवल 1% लोगो को ही लाभ हुआ है। इस सरकार ने जीएसटी लगाकर देश का कारोबार ही चौपट कर दिया है। अखिलेश ने योगी पर कटाक्ष करते हुये कहा कि योगी जी कहते है कि संविधान न होता तो यह लोग भैस चरा रहे होते लेकिन गाय को माता कौन कह रहा है। गत दिनो योगी की एक रैली मे हेलीपैड पर दो सांडों के आ जाने पर कटाक्ष करते हुये कहा कि गाय को माता कहते है और सांड की शिकायत भी सुनना नही चाहते। नरेश अग्रवाल पर करारा प्रहार करते हुये अखिलेश यादव ने कहा कि सभी जगह घूम कर आने वाला गोल अर्थात जीरो हो जाता है। इनमे यदि हिम्मत है तो इस्तीफा देकर चुनाव लडकर दिखाये। रैली मे अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों दलितों बंचितो व गरीबो के हित मे कभी काम नही किया है उज्जवला योजना पर बोलते हुये कहा कि शहरो मे गैस पाइप लाइन से मिलने लगी तो प्रधानमंत्री ने पुराने सिलिंडर गांव मे बटवा दिये। जिसमे 80% सिलिंडर भराये ही नही जा रहे है। अपनी उपलब्धियों का बखान करते हुये कहा कि उत्तर प्रदेश की गरीब महिलाओं को 500रु समाजवादी पेशन दी जिसे भाजपा सरकार ने बन्द कर दिया ।उन्होंने आगे बताते हुये उन्होने कहा कि उतर प्रदेश मे सपा ने डायल हण्ड्रेड सेवा शुरु की जिसे भाजपा ने लगभग खत्म कर दिया है योगी जी क्या जाने कि यह सब कैसे चलता है।108एम्बुलेंस सेवा की भी जिक्र करते हुये कहा की बाबा जी ने इसे बन्द कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने रैली मे आये लोगो से कहा कि यदि सपा सरकार बनती है तो महिलाओं को 3000रू समाज वादी पेशन दी जायेगी। मंच पर पहुंंच अखिलेश ने शराब पर चुटकी लेते हुये कहा कि हरदोई सदैव चर्चा मे रहती है। हरदोई पता नही कौन से नशे मे रहती है।प्रधानमंत्री ने हमारे गठबंधन को शराब कहा लेकिन शराब की चर्चा के बाद उन्होने शराब का नाम लेना ही बन्द कर दिया है। रैली मे प्रमुख रूप से सांसद अंशुल वर्मा ,हरदोई से प्रत्याशी ऊषा वर्मा ,मिश्रिख लोकसभा से प्रत्याशी नीलू,बसपा के पूर्व विधायक आसिफ अली बब्बू ,सपा के पूर्व विधायक बाबू खाँ, सपा एमएलसी राजपाल कश्यप ,मिस्वहाउददीन ,समेत गठबंधन के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे। रैली मे भारी भीड देख अखिलेश यादव काफी गदगद नजर आये।