जालन्धर, 17 मार्च (आरएनआई) | आज हम भारत भर में बैठे अपने सभी पाठको को साफ़ तौर पे बता देना चाहता है की पंजाब के जालंधर शहर में कुछ फ़र्ज़ी और चोर विज्ञापन एजेंसियो ने पत्रकारिता को डराने और लोक तंत्र के इस चौथे स्तम्भ की आवाज़ दबाने की हर मुमकिन कोशिस की हुई है।

हैरान करने वाली बात ये है की पंजाब सरकार ने इस मामले पर आंखें मूंदे हुए है और जालंधर का नगर निगम विभाग बड़ी बेशर्मी से विज्ञापन एजेंसियों की करतूत पर पर्दा डाल रखा है और करोड़ों के विज्ञापन घोटाले का पर्दा फाश कर रहे पत्रकारों को गुमराह किया जा रहा है।

शहर के एमबीडी माल की मैनेजमेंट, कॉम्पैक्ट एडवरटाइजिंग एजेंसी जैसी धोखेबाज, चोर व जालसाज विज्ञापन एजेन्सिया और निगम अधिकारी खा रहे है मलाई।

जालंधर के साथ साथ पूरे पंजाब के कुछ मॉलों के अंदर कुछ ऐसे विज्ञापन लगाए गए है जिनकी न तो कोई दूकान माल के अंदर है न ही मॉल से कोई लेना देना है जो पंजाब की विज्ञापन पालिसी से मेल नहीं खाती है, ऐसी ही एक चोर विज्ञापन एजेंसी के खिलाफ हम पिछले लम्बे समय लंबे से आवाज़ उठा रहे है आज हमें सूत्रों से पता चला है की एक अन्य एजेंसी जिसे एक चोर युवक चला रहा है मॉल में विज्ञापन चलने वाली चोर एजेंसी के लिए कुछ बड़ी कंपनियों और सरकारी विभागों से विज्ञापन लाके दे कर इस गोरख धंदे में मॉल में वाली एजेंसी की आर्थिक मदद कर रहा है और लोगो को कहता है की मॉल में विज्ञापन लगाने वाली एजेंसी तो दूध की धूलि है और जो भी उक्त एजेंसी के खिलाफ चलेगा उसे सड़क पे ला दिया जायेगा।

करोड़ो का है मॉल में लगने वाले विज्ञापनों का खेल-पंजाब के माल्स में लगने वाले विज्ञापन के रेवेनुए की बात की जाये तो ये खेल कई करोड़ो का बैठता है जिसमे एक भी पैसा पंजाब की सरकार को कर के रूप में नहीं मिल रहा।

लम्बे समय तक परेशान किया गया एक विज्ञापन ठेकेदार को- आज एक ठेकेदार ने बताया की वो पिछले कुछ सालों से सरकारी विज्ञापन के ठेके लेते रहे है जिनको सालों तक इस चोर और फ़र्ज़ी विज्ञापन एजेंसी ने परेशान करके काम नहीं करने दिया जिससे सरकार और ठेकेदार दोनों को काफी नुकसान हुआ, ठेकेदार का दुःख दर्द का खुलासा हम अपने अगले अंक में करेंगे।