249 Views

पीलीभीत, 14 फरवरी 2020, (आरएनआई )। यूपी के पीलीभीत जिले में बीते दिनों हुए जानलेवा हमले में घायल हुए युवक के परिजनों ने थाना पुलिस पर महज मारपीट की धाराओं में एनसीआर दर्ज करने और कार्यवाही न करने का आरोप लगाया है।

दरअसल मामला थाना न्यूरिया इलाके का है जहां 19 वर्षीय शानू पुत्र हितमत उल्ला मोहल्ला मोहम्मद यार खां निवासी को बीती कस्बे के ही नदीम पुत्र छोटन और बिक्की पुत्र छोटन आरिफ की जिम से बुला का अपने साथ ले गए। जहां बताया जा रहा है कि थोड़ी ही दूरी पर जाकर शानू से बाइक चलाने को कहा गया और तीनों लोग बाइक पर सवार हो गए। वही बाइक पर पीछे बैठे नदीम ने नहर के पास जाकर बांके से शानू पर हमला कर घायल कर दिया और अधमरा कर बेहोशी की हालत में चौराहे पर छोड़ कर फरार हो गए। सूचना पर पहुँचे परिजनों ने घायल अवस्था मे शानू को जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां हालत गंभीर होने पर शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहाँ उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। पूरी घटना 10 फरवरी की बताई जा रही।

वही इस मामले में शानू ने बताया कि बह दिल्ली में सिलाई का काम करता है जहां उसके दो अन्य दोस्त नदीम एवं बिक्की भी काम करते है। घायल शानू ने बताया कि पिछले साल दिसंम्बर माह में नदीम से करीब बीस हजार रुपये उधार लिए थे जो कि तनख्वाह मिलने के बाद बापस करने को कहा गया था। जोकि तनख्वाह मिलने के बाद भी बापस नही किये गए थे। वही जब इसका तकादा किया गया तो बीती 10 फरवरी को पैसे बापस देने के बहाने बुला कर अपने साथ ले गए।

जहां नहर के पास बांके से पीछे से सर पर कई बार कर घायल कर दिया और अधमरा छोड़ कर फरार हो गए। वही शानू के परिजनों ने बताया कि शानू का उधार के पैसों को लेकर बिबाद था। जिसमे पैसे बापस मांगे गए थे जिसके बाद उसको जिम से बुला कर अपने साथ ले गए और बाद में नहर के पास छोड़ कर चले गए उसके बाद आरोपी नदीम ने ही फ़ोन कर जानकारी दी जिसके बाद उसको घायल अवस्था मे जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत काफी गंभीर थी जिसके चलते निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वही इस मामले की थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई जहां पुलिस ने मामूली मारपीट की धाराओं में एनसीआर दर्ज कर ली जिसके बाद अब तक कोई कार्यवाही नही की गई। वही जब अगले दिन शानू को होश आया तब मामले की जानकारी हुई तब थाने में मामले की रिपोर्ट नामजद दर्ज कराई गई पर पुलिस ने 323, 504, 506 की धाराओं में एनसीआर दर्ज कर ली पर कोई कार्यवाही नही की गई है।